वेबसाइट में खोजें

Monday, August 21, 2017

कान्वेंट को फीका कर रहा ये सरकारी स्कूल: प्रधानाध्यापक अपने वेतन से बदल रहे स्कूल की तस्वीर और बच्चों की तकदीर

कान्वेंट जैसी शिक्षा और नवाचार के लिए वाई-फाई जोन युक्त परिसर की कल्पना आते ही जेहन में बेहद आधुनिक स्कूल की छवि उभरती है, लेकिन यहां यह वास्तविक तस्वीर एक प्राइमरी स्कूल की है। बात हो रही है शिक्षा क्षेत्र बेलसर के प्राथमिक विद्यालय सिधौटी की। जनवरी 2015 में यहां प्रमोशन पर आए प्रधानाध्यापक
बृजश्याम सिंह ने खुद के वेतन से विद्यालय को संवारा है। 60 बच्चों के स्कूल में अब 118 छात्र पंजीकृत हैं, जो कान्वेंट की तर्ज पर शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं। प्रार्थना सभा में योग व व्यायाम के साथ प्रत्येक दिन विद्यालय में शिक्षण कार्य होता है। पहली कक्षा में देश-विदेश में घट रही घटनाओं के साथ नैतिक शिक्षा की जानकारी दी जाती है। शिक्षा प्रणाली को आसान बनाने के लिए सहायक सामग्री का इस्तेमाल किया जाता है। विद्यालय में पढ़ने वाले गरीबों के नौनिहाल प्राथमिक स्तर पर ही अंग्रेजी का ज्ञान प्राप्त कर रहे हैं। 1इसलिए है खास : प्रधानाचार्य बृजश्याम कहते हैं कि वह इसी गांव के हैं। इसी विद्यालय में पढ़ाई की है। स्कूल की स्थिति गड़बड़ हो गई थी। इससे सामान्य परिवार के बच्चे निजी स्कूलों में पढ़ाई करने जाने लगे, लेकिन समस्या गरीब परिवारों को थी, इसलिए गांव में ही खुले कान्वेंट की तर्ज पर इसे विकसित किया। वह कहते हैं कि यह सब करने में ढाई लाख रुपये खर्च हुए लेकिन बच्चों को अच्छी शिक्षा मिल रही है। 1ऐसे होती है पढ़ाई 1’बच्चों का समूह बनाकर पढ़ाई कराई जाती है। ’शिक्षक छात्रों के बीच में बैठकर पढ़ाते हैं। ’मीनामंच कार्यक्रम का प्रसारण होता है। ’कक्षा में टेबलेट के माध्यम से छात्रों को नई चीजें दिखाई जाती है। ’पढ़ाने के साथ ही संबंधित विषय पर प्रयोग होता है। तैयार किया हरित परिसर: विद्यालय में तैनात अध्यापक प्रदीप कुमार, प्रभात तिवारी, शिक्षामित्र हंसराज व सुमन सिंह ने बच्चों के सहयोग से परिसर को सुंदर फूलों और वृक्षों से आच्छादित कर दिया है।1’>>गोंडा के बेलसर में वाई-फाई से लैस सिधौटी प्राथमिक विद्यालय में दी जा रही है आधुनिक शिक्षा1’>>प्रधानाध्यापक अपने वेतन से बदल रहे स्कूल की तस्वीर और बच्चों की तकदीर1गोंडा जिले के बेलसर में स्थित सिधौटी प्राथमिक विद्यालय का दृश्य। जागरण
विद्यालय की व्यवस्था अच्छी है। शैक्षिक उन्नयन के लिए कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं। दूसरे अध्यापकों को इससे सीख लेनी चाहिए1संतोष कुमार देव, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारीसरोकार की अन्य खबरें पढ़ें ।


uptet | up tet | uptet latest news | uptet news | only4uptet | primary ka master | basic shiksha parishad | basic siksha parishad | basic shiksha | shiksha mitra | shikshamitra latest news | shikshamitra news | uptet 2011 | uptet syllabus | uptet syllabus 2016 | uptetnews | uptet 2016 | uptet 2016 result | uptet result | uptet 2016 admit card | up basic shiksha parishad | shikshamitra

कान्वेंट को फीका कर रहा ये सरकारी स्कूल: प्रधानाध्यापक अपने वेतन से बदल रहे स्कूल की तस्वीर और बच्चों की तकदीर Rating: 4.5 Diposkan Oleh: amit gangwar

0 comments:

Post a Comment

आयुर्वेद हेल्थ टिप्स डेली

RELATED POSTS