वेबसाइट में खोजें

सरकार ने शिक्षामित्रो के साथ धोखा किया, बेसिक शिक्षा मंत्री का बयान को बताया दुर्भाग्यपूर्ण,10 हजार मानदेय कतई स्वीकार नहीं

सरकार ने शिक्षामित्रो के साथ धोखा किया
बेसिक शिक्षा मंत्री का बयान दुर्भाग्यपूर्ण।....शिवश्याम मिश्रा
10 हजार मानदेय कतई स्वीकार नहीं।-अनवारुल रहमान खान


सरकार द्वारा बी0टी0सी0 प्राशिक्षित शिक्षामित्रों को 10 हजार रुपये मानदेय का प्रस्ताव कैबिनेट में पारित कर प्रदेश के पौने दो लाख शिक्षामित्रों के साथ धोखा किया है, जिसका उ0प्रा0प्रा0शिक्षामित्रं संघ विरोध करता है।
आज सरकार के निर्णय से आक्रोशित शिक्षामित्रों ने कलेक्ट्रेट धरना स्थल पर एकत्र होकर सभा किया और सरकार के फैसले का विरोध करने का फैसला करते हुए उग्र आंदोलन की चेतावनी दी।
सभा को संबोधित करते हुए प्रांतीय प्रवक्ता शिवश्याम मिश्रा ने कहा कि सरकार ने शिक्षामित्रो के साथ धोखा किया है जिसका मूल्य उसे चुकाना होगा। प्रांतीय प्रवक्ता ने कहा कि प्रदेश के समस्त शिक्षामित्र बी0टी0सी0 प्राशिक्षित है और शिक्षामित्रों के अलावा लाखो लोग बी0टी0सी0 होने के साथ ही शिक्षक का सम्मान प्राप्त कर रहे है। सरकार की कुत्सित सोच ने बी0टी0सी0 प्राशिछित शिक्षामित्रों को पुनः शिक्षामित्र बना दिया। प्रांतीय प्रवक्ता ने कहा कि बेसिक शिक्षा मंत्री जी का बयान दुर्भाग्यपूर्ण है जिसमें माननीय मंत्री जी ने यह बयान जारी किया कि हमने शिक्षामित्रों को3 3500/-रू0 से बढ़ाकर 10000/-हजार किया। किन्तु उनको यह ज्ञात नही है कि 1,37,000 शिक्षामित्र स0अ0 के रूप में कार्य करते हुए 40,000/-रु0 वेतन आहरित कर रहा था।आगे सभा को संबोधित करते हुए जिला प्रावक्ता अनवारुल रहमान खांने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री द्वारा शिक्षमित्रो के साथ दो बार वार्ता हुई, कमेटी बनी, लीगल ओपिनियन बनाने को कहा लेकिन इस सरकार द्वारा कैबिनेट में 10,000/- मानदेय पास करके शिक्षामित्रों के पीठ में छूरा घोपने का कार्य किया है जबकि प्रदेश का मुख्यमंत्री झूठा निकल गया। इसका खामियाजा उसे भुगतना पड़ेगा।
सभा को संबोधित करते हुए प्रदेश संयोजक ओंकार सोनकर ने कहा कि साथियों सरकार के निर्णय से हताश व निराश न हो संगठन के बताये हुये दिशा निर्देश पर चलते रहे। सफलता हमें जरुर मिलेगी।
सभा का संचालन गिरिश जायसवाल ने किया। इस दौरान वरिष्ठ उपाध्यक्ष अनिल सिंह, जिला प्रभारी कमलेश वर्मा आदि ने संबोधित किया। इस अवसर पर दुर्गेश श्रीवास्तव, राहुल पाण्डेय, शेष राज तिवारी, अशोक जायसवाल, धर्मराज जायसवाल, भारती देवी, दिनेश गौतम, राघवेंद्र सिंह, रिजवान अली, अभय कुमार मिश्र, जुगुल किशोर,मिथलेश गुप्ता, अहमद रजा,मुनव्वर अली,प्रवीण कुमार तिवारी, रमेश पाण्डेय, प्रहलाद, रघुकुल शिरोमणि, राणा प्रताप सिंह, अरविन्द यादव, अनुराग यादव, ज्ञानेन्द्र तिवारी, जमाल अहमद सिद्दीकी, अनिल वर्मा,  पूनम सिंह, तृप्ति सिंह,आदि हजारों समायोजित शिक्षक / शिक्षामित्र उपस्थित रहे।
uptet | up tet | uptet latest news | uptet news | only4uptet | primary ka master | basic shiksha parishad | basic siksha parishad | basic shiksha | shiksha mitra | shikshamitra latest news | shikshamitra news | uptet 2011 | uptet syllabus | uptet syllabus 2016 | uptetnews | uptet 2016 | uptet 2016 result | uptet result | uptet 2016 admit card | up basic shiksha parishad | shikshamitra

सरकार ने शिक्षामित्रो के साथ धोखा किया, बेसिक शिक्षा मंत्री का बयान को बताया दुर्भाग्यपूर्ण,10 हजार मानदेय कतई स्वीकार नहीं Rating: 4.5 Diposkan Oleh: amit gangwar

0 comments:

Post a Comment

RELATED POSTS