वेबसाइट में सर्च करें

UPDATEMART वेबसाइट से फेसबुक पर जुडें

Sep 12, 2017

विश्वविद्यालयों में रखे जाएंगे 70 साल तक के रिटायर्ड शिक्षक, शिक्षकों की जबर्दस्त कमी की समस्या से निपटने का अस्थायी उपाय

राज्य विश्वविद्यालयों में शिक्षकों की जबर्दस्त कमी की समस्या से निपटने के लिए वैकल्पिक व्यवस्था के तौर पर सेवानिवृत्त शिक्षकों की सेवाएं लेने का इरादा है। इसके लिए राज्य विश्वविद्यालयों से रिटायर हो चुके 70 वर्ष तक की उम्र के शिक्षकों को मानदेय पर नियुक्त किया जाएगा। इस प्रस्ताव पर कैबिनेट की मुहर लगवाने के लिए
न्याय, वित्त और कार्मिक विभागों से परामर्श मांगा गया है। अशासकीय सहायताप्राप्त महाविद्यालयों में रिटायर्ड शिक्षकों को मानदेय पर रखने की व्यवस्था पहले से लागू है।1प्रदेश के 15 राज्य विश्वविद्यालयों में शिक्षकों के कुल सृजित पदों में से लगभग 45 फीसद पद खाली हैं। असिस्टेंट प्रोफेसर के 1179 सृजित पदों में से 444, एसोसिएट प्रोफेसर के 447 में से 224 और प्रोफेसर के 252 में से 175 पद खाली हैं। इतनी अधिक संख्या में शिक्षकों के पद खाली होने से शिक्षण और शोध कार्य प्रभावित हो रहे हैं। शिक्षकों की कमी के कारण विश्वविद्यालयों को नैक मूल्यांकन में अपेक्षित उच्च स्तरीय ग्रेड नहीं प्राप्त हो रहा है। इसकी वजह से विश्वविद्यालयों को विश्वविद्यालय अनुदान आयोग से समुचित अनुदान नहीं मिल पा रहा है। इससे विश्वविद्यालयों में एकेडमिक और अवस्थापना सुविधाएं उपलब्ध कराने में कठिनाई आ रही है।1शिक्षकों की कमी को देखते हुए विकल्प के रूप में राज्य विश्वविद्यालयों से असिस्टेंट प्रोफेसर, एसोसिएट प्रोफेसर और प्रोफेसर के पदों से रिटायर हुए शिक्षकों को निश्चित मानदेय पर रखने का प्रस्ताव है। यह मानदेय रिटायर्ड शिक्षकों को मिलने वाली पेंशन के अलावा होगा। इसके लिए हर विश्वविद्यालय में स्नातक/परास्नातक पाठ्यक्रम में प्रत्येक शैक्षिक सत्र में 30 जून तक रिक्त होने वाले पदों का विषयवार विवरण विश्वविद्यालय द्वारा दो महीने पहले दिया जाएगा। विश्वविद्यालय ऐसे रिटायर्ड शिक्षकों की विषयवार सूची तैयार करेंगे जिन्होंने 69 वर्ष की आयु प्राप्त न की हो। रिटायर्ड शिक्षकों के चयन के लिए संबंधित विश्वविद्यालय के कुलपति की अध्यक्षता में चार सदस्यीय कमेटी गठित होगी। समिति की ओर से संस्तुत शिक्षकों की सूची को विश्वविद्यालय की कार्य परिषद अनुमोदित करेगी। इसके बाद रिटायर्ड शिक्षकों की विभाग/संकाय में शिक्षण कार्य के लिए नियुक्त किये जाएंगे। 1मानदेय शिक्षक की व्यवस्था संबंधित विषय के रिक्त पद पर विश्वविद्यालय द्वारा शिक्षक नियुक्त होने या प्रत्येक वर्ष के 30 जून, जो भी पहले हो, एक साल के लिए की जाएगी। अगले साल के लिए नए सिरे से चयन किया जाएगा। 1राजीव दीक्षित


uptet | up tet | uptet latest news | uptet news | only4uptet | primary ka master | basic shiksha parishad | basic siksha parishad | basic shiksha | shiksha mitra | shikshamitra latest news | shikshamitra news | uptet 2011 | uptet syllabus | uptet syllabus 2016 | uptetnews | uptet 2016 | uptet 2016 result | uptet result | uptet 2016 admit card | up basic shiksha parishad | shikshamitra

विश्वविद्यालयों में रखे जाएंगे 70 साल तक के रिटायर्ड शिक्षक, शिक्षकों की जबर्दस्त कमी की समस्या से निपटने का अस्थायी उपाय Rating: 4.5 Diposkan Oleh: amit gangwar

0 comments:

Post a Comment

RELATED POSTS

updatemarts