वेबसाइट में खोजें

शिक्षकों की कमी से निपटने के लिए सरकार ने तैयार किया नया फॉर्मूला

नई दिल्ली (14 सितंबर): शिक्षकों की कमी से निपटने के लिए केंद्र सरकार सेवानिवृत्त शिक्षकों को नियुक्त करने का विचार कर रही है। मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बुद्धवार को कहा कि शिक्षकों की कमी से निपटने को तात्कालिक तरीका यही है कि सेवानिवृत्त शिक्षकों को जो स्वस्थ हैं, जिनका 'अच्छा शिक्षण रिकार्ड' उन्हें तैनात किया जा सकता है।
केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने देश के 42 विश्वविद्यालयों के अधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि केंद्र सरकार रिटायर्ड शिक्षकों को वापस बुलाने पर कर रही है। मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने वीडियो कांफ्रेंस के विश्वविद्यालयों के अधिकारियों को माध्यम से संबोधित किया।
जावेड़कर ने कहा कि जिनकी उम्र 75 वर्ष से कम है और शिक्षण रिकार्ड अच्छा है, उन्हें केंद्र सरकार संचालित संस्थानों और विश्वविद्यालयों में खाली पदों पर नियुक्त किया जाएगा।
एक मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है कि जावड़ेकर ने विभिन्न विश्वविद्यालयों और संस्थानों के अधिकारियों को संबोधित करते हुए यह घोषणा की। उन्होंने कहा कि रिटायर्ड शिक्षकों की नियक्ति कर सकते हैं, लेकिन उनका शिक्षण रिकॉर्ड अच्छा हो और वे चिकित्सकीय रूप से स्वस्थ हों। जावड़ेकर ने कहा कि सरकार शिक्षा को आसान बनाने और रिक्तों पदों को भरने के लिए अच्छा शिक्षण रिकार्ड रखने वाले शिक्षकों को वापस बुलाने पर विचार कर रही है।
जावेड़कर ने यह भी सुझाव दिया कि प्रतिष्ठित विदेशी विश्वविद्यालयों के अच्छे शोधकर्ताओं को भी भारत में शिक्षण कार्य दिया जा सकता है। हाल ही में जावड़ेकर ने संस्थानों औ विश्वविद्यालयों में खाली पदों को भरने की घोषणा की थी। नए केंद्रीय विश्वविद्यालयों में 53.28% रिक्त पद हैं और बाद एनआईटी में 47% पद खाली हैं।

शिक्षकों की कमी से निपटने के लिए सरकार ने तैयार किया नया फॉर्मूला Rating: 4.5 Diposkan Oleh: amit gangwar

0 comments:

Post a Comment

RELATED POSTS