वेबसाइट में सर्च करें

UPDATEMART वेबसाइट से फेसबुक पर जुडें

Oct 9, 2017

सरकारी टीईटी कोचिंग से शिक्षामित्रों का भरोसा टूटा, शिक्षामित्र नेता भी तैयारी में जुटे

फर्रुखाबाद : सर्वोच्च न्यायालय द्वारा सहायक अध्यापक पद पर समायोजन रद किए जाने के बाद सरकार ने सहानुभूति दिखाते हुए शिक्षामित्रों को टीईटी परीक्षा की तैयारी के लिए निशुल्क को¨चग दिए जाने की घोषणा की थी, लेकिन शिक्षामित्रों का सरकारी को¨चग से भरोसा टूट गया। जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान (डायट) में पंजीकरण कराने वाले 70 शिक्षामित्रों में से 80 फीसद ने अब को¨चग जाना छोड़ दिया है। वहीं कई ब्लाक संसाधन केंद्रों पर एक भी पंजीकरण नहीं हुआ।
जिले में 1694 शिक्षामित्र कार्यरत हैं। इनमें से 1447 सहायक अध्यापक पद पर समायोजित हुए थे। सर्वोच्च न्यायालय के आदेश के बाद अब वह शिक्षक पात्रता परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं। अधिकांश शिक्षामित्र प्राइवेट को¨चग में ही तैयारी के लिए जा रहे हैं। बढ़पुर व कमालगंज ब्लाक संसाधन केंद्र पर खंड शिक्षा अधिकारी ने शिक्षामित्रों को को¨चग देने के लिए विशेषज्ञ सह समन्वयकों की नियुक्त का आदेश भी जारी कर दिया था, लेकिन एक भी शिक्षामित्र बीआरसी पर को¨चग नहीं पढ़ रहा। खंड शिक्षा अधिकारी सुमित वर्मा ने बताया कि इसके लिए पूरी तैयारी कर ली गई थी, लेकिन शिक्षामित्रों द्वारा पंजीकरण न कराए जाने के कारण टीईटी परीक्षा के लिए प्रशिक्षण शुरू नहीं हुआ। जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान के प्राध्यापक राजेश यादव का कहना है कि प्रशिक्षण शुरू होने पर 70 शिक्षामित्र को¨चग लेने आ रहे थे, लेकिन अब 15 शिक्षामित्र ही आते हैं।
शिक्षामित्र नेता भी तैयारी में जुटे
आंदोलन के दौरान डायट में को¨चग लेने वाले शिक्षामित्र साथियों पर निशाना साधने वाले शिक्षामित्र नेता भी अब प्राइवेट को¨चग में शिक्षक पात्रता परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं। को¨चग में कुछ शिक्षामित्र भी अपने साथियों को तैयारी करा रहे।

सरकारी टीईटी कोचिंग से शिक्षामित्रों का भरोसा टूटा, शिक्षामित्र नेता भी तैयारी में जुटे Rating: 4.5 Diposkan Oleh: amit gangwar

0 comments:

Post a Comment

RELATED POSTS