वेबसाइट में खोजें

Friday, October 20, 2017

मिड डे मील के लिए राज्यों को अब जीएसटी नंबर लेना हुआ अनिवार्य

सरकारी स्कूलों में बंटने वाले मिड डे मील के लिए राज्यों को अब जीएसटी (वस्तु एवं सेवा कर) नंबर लेना
अनिवार्य होगा। भारतीय खाद्य निगम (एफसीआइ) ने इसके बगैर राज्यों को आगे खाद्यान्न देने से मना कर दिया है। लिहाजा मानव संसाधन मंत्रलय ने राज्यों को जीएसटी नंबर लेने के निर्देश दिए हैं। मिड डे मील के लिए राज्य सरकार को अनाज की आपूर्ति भारतीय खाद्य निगम कर रहा है। खास बात यह है कि मिड-डे मील के तहत मिलने वाले खाद्यान्न को सरकार ने जीएसटी के दायरे से बाहर रखा है। एफसीआई ने अपने कामकाज को पारदर्शी बनाने के लिए इसे अनिवार्य किया है।एमडीएम के निदेशक जी विजय भास्कर ने कहा है कि जीएसटी नंबर के अभाव ने खाद्य निगम ने अनाज देने में असमर्थता जताई तो कई राज्यों ने मानव संसाधन मंत्रलय को पत्र भेज कर दिशा-निर्देश मांगे कि एक जुलाई 2017 से जीएसटी लागू होने के बाद निगम को बिलों के भुगतान के लिए मिड डे मील को भी जीएसटी पंजीकरण नंबर की दरकार होगी। केंद्र सरकार की फ्लैगशिप योजना मिड डे मील के तहत राज्य के सभी सरकारी, सरकारी सहायता प्राप्त निकाय, मकतब-मदरसों में दोपहर में पका-पकाया भोजन देने का नियम है।



shikshamitra | uptet | up tet | uptet latest news | uptet news | only4uptet | primary ka master | basic shiksha parishad | basic siksha parishad | basic shiksha | shiksha mitra | shikshamitra latest news | shikshamitra news | uptet 2011 | uptet syllabus | uptet syllabus 2017 | uptetnews | uptet 2017 | uptet 2017 result | uptet result | uptet 2017 admit card | up basic shiksha parishad |

मिड डे मील के लिए राज्यों को अब जीएसटी नंबर लेना हुआ अनिवार्य Rating: 4.5 Diposkan Oleh: amit gangwar

0 comments:

Post a Comment

Ayurved Health Tips | Healthy Tips | Health Care | Ayurveda Remedies | Weight Loss| Desi Nuskhe

RELATED POSTS