वेबसाइट में खोजें

यूपी बोर्ड: 10वीं और 12वीं में फर्जी तरीके से भरे गए परीक्षा फॉर्म, ठेके पर पंजीकरण


एनबीटी, लखनऊ: यूपी बोर्ड वर्ष 2018 की वार्षिक परीक्षाओं को नकलविहीन करवाने के सरकार के दावे पर शिक्षा माफिया बट्टा लगा रहे हैं। राजधानी के कई स्कूलों ने फर्जी तरीके से 10वीं और 12वीं में फॅार्म भरवाए हैं। डीआईओएस कार्यालय से गठित टीम के औचक निरीक्षण में इस मामले का खुलासा हुआ है। इन स्कूलों पर अब तक कोई ठोस कार्रवाई नहीं की गई। इन स्कूलों में चंद्र शेखर आजाद इंटर कॉलेज, नन्हे सिंह स्मारक इंटर कॉलेज, एसपी सिंह इंटर कॉलेज और कुंवर आसिफ अली इंटर कॉलेज मुख्य रूप से शामिल हैं।

ठेके पर पंजीकरण
डीआईओएस की टीम ने 9वीं और 11वीं कक्षा में स्टूडेंट्स के पंजीकरण में भी बड़ा फर्जीवाड़ा पकड़ा है। इस बार भी दर्जन भर से ज्यादा विद्यालय ऐसे हैं, जिन्होंने 9वीं, 11वीं के अग्रिम पंजीकरण से लेकर हाईस्कूल, इंटर के भी सैकड़ों फॉर्म ठेके पर भरवाए हैं। डीआईओएस डॉ. मुकेश कुमार सिंह की ओर से गठित जांच टीम ने ऐसे कुछ स्कूलों का औचक निरीक्षण भी किया था। जांच टीम ने कुंवर आसिफ अली इंटर कॉलेज में कक्षा 9 में 279 में से 188, 10वीं में 350 पंजीकरण पर 200 छात्र, 11वीं में 391 में 208 छात्र और 12वीं में 557 में 277 छात्र पाए थे। राजकीय इंटर कॉलेज निशातगंज की ओर से की गई जांच में सैम पब्लिक स्कूल के रजिस्टर में 9वीं कक्षा में 49 छात्रों का नाम थे, लेकिन मौके पर इनमें से 21 ही मिले। इसी तरह नन्हे सिंह इंटर कॉलेज में 10वीं में 319 छात्रों में से मौके पर महज 21 छात्र की रजिस्टर पर एंट्री थी। 12वीं में 543 पंजीकरण की तुलना में सिर्फ 29 छात्र ही स्कूल में पाए गए।
नई रिपोर्ट के साथ पुरानी रिपोर्ट भी बोर्ड को भेज दी गई है। जांच में मौके पर मिले छात्रों और पंजीकरण की संख्या के साथ स्कूलों का ब्योरा भेजा गया है।-मुकेश कुमार सिंह, डीआईओएस


यूपी बोर्ड: 10वीं और 12वीं में फर्जी तरीके से भरे गए परीक्षा फॉर्म, ठेके पर पंजीकरण Rating: 4.5 Diposkan Oleh: amit gangwar

0 comments:

Post a Comment

RELATED POSTS