वेबसाइट में खोजें

राजकीय इंटर कालेजों को मिले 15 प्रवक्ता, साक्षात्कार में खुद को साबित नहीं कर सके अभ्यर्थी


इलाहाबाद राजकीय इंटर कालेजों में प्रवक्ता की कमी पूरी करने को पूर्व के वर्षो में हो चुकी परीक्षाओं के रिजल्ट उप्र लोक सेवा आयोग से जारी होने का सिलसिला जारी है।
आयोग ने 2009-10 में विज्ञापित प्रवक्ता पदों की परीक्षा के तहत दो और तीन नवंबर को साक्षात्कार आयोजित कराया। जिसमें इतिहास और हंिदूी के कुल नौ प्रवक्ताओं के परिणाम शुक्रवार को जारी किए। इसके साथ ही 2013-14 में विज्ञापित राजकीय महाविद्यालयों में गणित विषय के रिक्त छह पदों के लिए भी उत्तीर्ण प्रवक्ताओं की सूची जारी की गई।

उत्तर प्रदेश विशेष अधीनस्थ शिक्षा सेवा (पुरुष संवर्ग) के अंतर्गत राजकीय इंटर कालेजों में प्रवक्ता इतिहास के पांच रिक्त पदों (एक पद अनुसूचित जाति, दो पद ओबीसी और दो अनारक्षित) पर सीधी भर्ती से चयन के लिए आयोग ने दो नवंबर 2017 को अभ्यर्थियों का साक्षात्कार आयोजित किया था। इसमें आयोग ने मनोज कुमार मिश्र, रमाशंकर यादव, शिवकुमार, अमित कुमार तथा रविंद्र कुमार वर्मा को नियुक्ति के लिए संस्तुत किया। इसके अलावा प्रवक्ता हंिदूी के चार रिक्त पदों (एक पद ओबीसी, तीन अनारक्षित) पर सीधी भर्ती से चयन के लिए तीन नवंबर 2017 को अभ्यर्थियों का साक्षात्कार हुआ। इसमें आयोग ने अभिषेक दुबे, रामचंद्र पांडेय, धर्मेद्र कुमार सिंह तथा अरुण कुमार यादव को नियुक्ति के लिए संस्तुत किया है।

उच्च शिक्षा विभाग के अंतर्गत राजकीय महाविद्यालयों में प्रवक्ता गणित के छह पदों (दो पद ओबीसी, एक अनुसूचित जाति तथा क्षैतिज आरक्षण के अंतर्गत एक पद महिला के लिए आरक्षित) पर सीधी भर्ती से चयन को आयोग ने 2013-14 में विज्ञापित परीक्षा के तहत अभ्यर्थियों का साक्षात्कार आठ नवंबर 2017 को कराया। इसमें श्वेता अग्रवाल, इफ्तेखार अहमद अंसारी, शादाब अहमद खान, जयविंद्र तोमर, सौरभ पोरवाल और विनोद कुमार भारती को नियुक्ति के लिए संस्तुत किया। आयोग के सचिव जगदीश ने बताया कि परीक्षा परिणाम वेबसाइट पर भी उपलब्ध हैं। प्रवक्ताओं की भर्ती से शिक्षा व्यवस्था में व्यापक बदलाव आएगा।

साक्षात्कार में खुद को साबित नहीं कर सके अभ्यर्थी
प्रधानाचार्य, श्रेणी-दो /उप प्रधानाचार्य / प्राविधिक शिक्षा अधिकारी, व्यावसायिक शिक्षा विभाग के अंतर्गत दो पदों पर उप्र लोक सेवा आयोग में शुक्रवार को साक्षात्कार देने गए अभ्यर्थी खुद को इस पद के लिए साबित नहीं कर सके। आयोग अब इन पदों को नियमानुसार पुनर्विज्ञापित करने पर विचार करेगा। सचिव जगदीश ने बताया है कि 2016-17 में उपरोक्त दो पदों (विशेष चयन दिव्यांगजनों के लिए आरक्षित-एक पद दृष्टिहीन या कम दृष्टि ) और एक पद श्रवणबाधित के लिए पर सीधी भर्ती से चयन के लिए शुक्रवार 10 नवंबर को साक्षात्कार कराया। इसमें दो अभ्यर्थी उपस्थित हुए। बोर्ड ने दोनों ही अभ्यर्थियों को उपयुक्त नहीं पाया।




राजकीय इंटर कालेजों को मिले 15 प्रवक्ता, साक्षात्कार में खुद को साबित नहीं कर सके अभ्यर्थी Rating: 4.5 Diposkan Oleh: amit gangwar

0 comments:

Post a Comment

RELATED POSTS