वेबसाइट में खोजें

बरेली: फर्जी डिग्री के आधार पर बने सहायक अध्यापक धरे गए, संदिग्ध में से जांच के दौरान 6 शिक्षकों की डिग्री निकली फेक

★ वर्ष 2004 में आगरा यूनिवर्सिटी से किया था बीएड
★ आगरा विवि में 2004-05 में हुआ था बीएड घोटाला
बरेली वरिष्ठ संवाददातावर्ष 2004 में आगरा यूनिवर्सिटी की फर्जी बीएड डिग्री से 6 लोगों ने बेसिक शिक्षा विभाग में शिक्षक की नौकरी पा ली। जांच के बाद गोलमाल पकड़ गया। शिक्षकों को नोटिस जारी कर नौकरी से बाहर का रास्ता दिखाया जाएगा

डॉ भीमराव अंबेडकर विश्वविद्यालय आगरा में सत्र 2004-05 में बीएड घोटाला हुआ था। विश्वविद्यालय में 8132 छात्रों ने बीएड की परीक्षा दी थी। कुछ अधिकारियों और कर्मचारियों ने गोलमाल कर 11132 छात्रों को मार्कशीट जारी की थी। 4000 मार्कशीट को निरस्त कर दिया गया। बरेली में 32 शिक्षक ऐसे पाये गए थे जिन्होंने 2004 में आगरा यूनिवर्सिटी से बीएड कर शिक्षक की जॉब पाई थी। इनमें से 6 शिक्षक फर्जी डिग्री वाले पाये गए।

इनमें से दो-दो दमखोदा और रामनगर के जबकि एक-एक मझगवां और शेरगढ़ के हैं। शाहजहांपुर में 18 और बदायूं में 88 शिक्षक पहले ही संदिग्ध मिल चुके हैं। बीएसए ने बताया कि फर्जी शिक्षकों को नोटिस दिया जाएगा। इन लोगों की सेवा समाप्ति की जाएगी। इसके लिए मुख्यालय को भी रिपोर्ट भेज दी गई है।
■ शिक्षक पहले ही संदिग्ध मिल चुके हैं शाहजहांपुर-बदायूं में आगरा से बीएड कर छह लोग बने थे बेसिक शिक्षक

बरेली: फर्जी डिग्री के आधार पर बने सहायक अध्यापक धरे गए, संदिग्ध में से जांच के दौरान 6 शिक्षकों की डिग्री निकली फेक Rating: 4.5 Diposkan Oleh: amit gangwar

0 comments:

Post a Comment

RELATED POSTS