वेबसाइट में खोजें

सहायक शिक्षक बनने से वंचित असमंजस में बेचारे शिक्षामित्र, अब कहां करें हस्ताक्षर: परेशानी पड़ रही झेलनी

सहायक शिक्षक बनने से वंचित शिक्षा मित्रों को अब विद्यालय में हस्ताक्षर को लेकर परेशानी झेलनी पड़ रही है। कुछ विद्यालयों में खण्ड शिक्षाधिकारी ने वैकल्पिक व्यवस्था कर ली है। अभी तक मूल विद्यालय पर शिक्षा मित्रों की वापसी नहीं हो सकी है।


हाल ही में शिक्षामित्र से सहायक शिक्षक बने शिक्षामित्रों को न्यायालय के आदेश के बाद पुन:शिक्षा मित्र बना दिया गया। वेतन के बजाय मानदेय मिलने लगा। पद से हटे शिक्षामित्र अभी उसी विद्यालय में डयूटीकर रहे हैं ,जहां सहायक अध्यापक थे। कारण अभी तक इन्हें मूल शिक्षा मित्र तैनाती वाले विद्यालय का आदेश विद्यालयों पर नहीं पहुचा है। महज दस हजार के मानदेय पर कुछ शिक्षामित्र जनपद के सीमा तक तैनात विद्यालय पर डयूटी करने को मजबूर है। अभी मूल विद्यालय पर वापसी को लेकर परेशान थे कि इनके हस्ताक्षर को लेकर भी समस्या खड़ी हो गयी है। आदेश के बाद विद्यालयों पर इनके हस्ताक्षर सहायक शिक्षक वाले रजिस्टर पर न करके शिक्षा मित्र वाले रजिस्टर पर करना है। विद्यालयों में जब आदेश की प्रति नहीं पहुची तो कुछ खण्ड शिक्षाधिकरियों ने पत्र जारी कर वैकल्पिक आदेश कर दिया। एक खण्ड शिक्षाधिकारी ने लिखित रूप से आदेश दिया कि हस्ताक्षर दूसरे पंजिका पर कराया जाए। शिक्षा मित्रों का कहना है कि वापसी शिक्षामित्र पद पर ही है अगर तो शिक्षामित्रों से संबंधित पंजिका प्रयोग की जाय। हालांकि खण्ड शिक्षाधिकारी रानी की सराय अशोक यादव का कहना है कि जिले के कई शिक्षामित्र्र, सहायक शिक्षक नहीं बने थे । इसलिए ये भी शिक्षामित्र उसी पंजिका पर हस्ताक्षर करेंगे। फिलहाल शिक्षामित्रों के हस्ताक्षर और विद्यालय पर वापसी गले की हड्डी बना हुआ है।

सहायक शिक्षक बनने से वंचित असमंजस में बेचारे शिक्षामित्र, अब कहां करें हस्ताक्षर: परेशानी पड़ रही झेलनी Rating: 4.5 Diposkan Oleh: amit gangwar

0 comments:

Post a Comment

RELATED POSTS