वेबसाइट में खोजें

बीएड फर्जियों का काला चिट्ठा जल्द, फर्जी डिग्रीधारकों की गर्दनें दबोचने की तैयारी में जुटा विभाग

बीएड फर्जियों का काला चिट्ठा जल्द, फर्जी डिग्रीधारकों की गर्दनें दबोचने की तैयारी में जुटा विभाग


जागरण संवाददाता, एटा: बीएड की फर्जी डिग्रियों की जांच में भले ही जनपद पिछड़ गया हो, लेकिन पारदर्शी तरीके से कार्य पूरा कराने की तैयारी को लेकर विभाग जल्दी ही फर्जी डिग्रीधारकों का चिट्ठा जुटाने में लगा है। ब्लॉक मुख्यालयों से मांगीं गईं सूचनाएं भी लगभग पूरी होने के बाद जांच प्रक्रिया फिर तेज होने की स्थिति में फर्जी डिग्रीधारकों की गर्दनें अब दूर नहीं हैं। सूत्रों की मानें तो मंगलवार तक विभाग जनपद की सूची चिन्हांकन पूरा करने के बाद शासन को उपलब्ध करा देगा। 1अंबेडकर विश्वविद्यालय आगरा की वर्ष 2004 की फर्जी बीएड डिग्रियों को लेकर हुए खुलासे के बाद शासन ने जिले में भी सीडी उपलब्ध कराकर जांच शुरू कराई है। प्रारंभिक जांच में कुछ फर्जी डिग्रियों के मामले पकड़े गए, लेकिन सीडी में अधिकांश नाम होने के कारण छटनी में आ रही दिक्कतों के बाद सेवारत शिक्षकों का ब्योरा ब्लॉक मुख्यालयों से मांगा गया। ताकि जल्द से जल्द जांच को अंतिम रूप दिया जा सके। ब्लॉक स्तर पर सूचनाएं संकलित करने में वक्त तो लगा, लेकिन ज्यादातर ब्लॉकों की सूचियां शनिवार तक विभाग को मिल गईं। अब उसी के आधार पर शिक्षकों का चिन्हांकन तेज हो गया है। रविवार को अवकाश के बावजूद जांच की प्रक्रिया को जारी रखा गया। माना जा रहा है कि आगामी दो दिनों में जांच पूरी होने के बाद जिले में भी फर्जी डिग्री धारकों का चिट्ठा खुलकर सामने आ जाएगा। विभाग अभी इस मामले में काफी गोपनीयता के साथ जांच कर रहा है। वैसे तो जिले में सीडी आने के बाद ही फर्जी डिग्री धारकों में अंदरखाने खलबली मची हुई है। दूसरी ओर विभाग के लोगों में भी सूची आने का इंतजार इसलिए है कि आखिर फर्जी डिग्री धारकों के रूप में कितनों ने अब तक नौकरी कर ली। इस मामले में विभागीय लोगों के परिजनों के नाम पर आने को लेकर प्रबल उम्मीदें जताई जा रही हैं। इस कारण भी जांच के अंतिम दौर को लेकर बेसब्री बनी हुई है। बीएसए एसके तिवारी का कहना है कि ब्लॉकों से सूचनाएं मिलने के बाद जांच तेज करा दी गई है। जल्दी ही स्थिति सामने आ जाएगी।


बीएड फर्जियों का काला चिट्ठा जल्द, फर्जी डिग्रीधारकों की गर्दनें दबोचने की तैयारी में जुटा विभाग Rating: 4.5 Diposkan Oleh: amit gangwar

0 comments:

Post a Comment

RELATED POSTS