वेबसाइट में खोजें

NAS: कक्षा 1 से 8 तक के परिषदीय स्कूलों का होगा अचीवमेंट टेस्ट, परखा जाएगा बच्चों का ज्ञान


लखनऊ। निज संवाददाता प्राइमरी और जूनियर कक्षाओं में पढ़ने वाले बच्चों के ज्ञान का स्तर को अब अचीवमेंट टेस्ट के जरिए परखा जाएगा। परिषदीय विद्यालयों के इन बच्चों का टेस्ट ‘नेशनल अचीवमेंट सर्वे-2017 के तहत होगा। इसमें कक्षा तीन, कक्षा पांच और कक्षा आठ के छात्र-छात्राओं को शामिल किया गया है। इसके माध्यम से बच्चों के हिन्दी भाषा, गणित, ईवीएस ओर विज्ञान विषय को सीखने के स्तर का आंकलन किया जाएगा। सोमवार को होने वाले इस टेस्ट में लखनऊ के 173 विद्यालयों को शामिल किया गया है। ‘नेशनल अचीवमेंट सर्वे-2017 के तहत होने वाले इस टेस्ट में परिषदीय विद्यालयों के कक्षा तीन और पांच के छात्र-छात्राओं का हिन्दी भाषा, गणित और ईवीएस विषय को सीखने का आंकलन किया जाएगा। साथ ही कक्षा आठ में छात्र-छात्राओं को गणित, विज्ञान, हिन्दी और ईवीएस विषयों को सीखने के स्तर का आंकलन होगा। इस सर्वे की सभी तैयारियां पूरी हो गई है। रविवार को जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान (डायट) में सर्वे के लिए सामग्री का वितरण भी किया गया। डायट के प्राचार्य डॉ. पवन कुमार सचान ने बताया कि नेशनल अचीवमेंट सर्वे-2017 के तहत लखनऊ सहित प्रदेश के 75 जिलों के कुल 12 हजार 9 सौ 75 विद्यालयों में सोमवार को अचीवमेंट टेस्ट होगा। टेस्ट में छात्र-छात्राओं के शैक्षिक, सामाजिक, आर्थिक और भौतिक पर्यावरण के प्रभावों का अध्ययन किया जाएगा।


लखनऊ जिले के 173 विद्यालयों में होगा अचीवमेंट टेस्ट
जिसमें लखनऊ जिले के कुल 173 विद्यालयों में अचीवमेंट टेस्ट होगा। इस टेस्ट में उक्त विद्यालयों के कुल 3 तीन हजार 8 सौ 76 छात्र-छात्राएं भाग लेंगे। जिसमें कक्षा-3 में 1 हजार 2सौ 80, कक्षा-5 में 1 हजार 200 और कक्षा-8 में 1 हजार तीन सौ 96 बच्चे शामिल होंगे। डायट के प्राचार्य डॉ. पवन कुमार सचान ने बताया कि नेशनल अचीवमेंट सर्वे-2017 में जिले के 18 इंटर कॉलेज, 32 जूनियर हाईस्कूल और 122 प्राइमरी विद्यालयों के बच्चे अपनी दक्षता का परिचय देंगे। अचीवमेंट सर्वे की जिम्मेदारी लखनऊ जिले में 310 फील्ड इन्वेस्टीगेटरों को दी गई है। यह सभी इन्वेस्टीगेटर डायट में बीटीसी के छात्र हैं

टीम करेगी औचक निरीक्षण
स्कूलों में अचीवमेंट टेस्ट के दौरान खंड विकास अधिकारी अपने विकास खंड में पर्येवेक्षक के रूप में कार्य करेंगे। इसके अलावा डायट प्राचार्य डॉ. पवन कुमार सचान, जिला विद्यालय निरीक्षक (डीआईओएस) डॉ. मुकेश कुमार सिंह, बेसिक शिक्षा अधिकारी (बीएसए) प्रवीण मणि त्रिपाठी, सभी खण्ड शिक्षा अधिकारी (बीईओ) और सहायक ब्लाक संसाधन समन्वयक (एबीआरसी) भी विद्यालयों का निरीक्षण करेंगे

यूपी में 3,97,400 छात्र करेंगे प्रतिभाग
नेशनल अचीवमेंट सर्वे के तह होने वाले टेस्ट में प्रदेश के 12 हजार 9 सौ 75 विद्यालयों में 3 लाख 89 हजार 250 छात्र-छात्राओं को शामिल करने का लक्ष्य है। इसमें कक्षा 3 में 1 लाख 37 हजार, कक्षा 5 के 1 लाख 46 हजार 4 सौ और कक्षा 8 के 1 लाख 14 हजार छात्र-छात्राएं होंगे। टेस्ट में कक्षा 3 और 5 के छात्र-छात्राओं को 90 मिनट में 45-45 सवाल और कक्षा 8 के छात्र-छात्राओं को 120 मिनट में 60 सवालों को हल करना होगा।

सर्वे के लिए होंगी 6 प्रकार की ओएमआर शीट
इस सर्वे के लिए 6 तरह की ओएमआर शीट का उपयोग किया जाएगा। कक्षा 3, 5 और 8 के अचीवमेंट टेस्ट के लिए अलग-अलग ओएमआर शीट बनाई गई है। इसी प्रकार छात्रों, शिक्षकों एवं विद्यालयों के लिए अलग-अलग सूचना प्रपत्र एवं ओएमआर शीट होंगी। सर्वे में छात्र-छात्राओं के शैक्षिक, सामाजिक, आर्थिक एवं भौतिक पर्यावरण के प्रभावों के अध्ययन करने के लिए तीन प्रकार के सूचना प्रपत्र जैसे विद्यालय सूचना प्रपत्र, शिक्षक सूचना प्रपत्र एवं छात्र सूचना प्रपत्र पर भी सूचनाएं अंकित की जाएंगी।

NAS: कक्षा 1 से 8 तक के परिषदीय स्कूलों का होगा अचीवमेंट टेस्ट, परखा जाएगा बच्चों का ज्ञान Rating: 4.5 Diposkan Oleh: amit gangwar

0 comments:

Post a Comment

RELATED POSTS