वेबसाइट में खोजें

शिक्षकों के सम्मान से अनुशासित बनते हैं छात्र


इलाहाबाद : सेंट जोसेफ स्कूल एवं कालेज में दो दिवसीय ‘इंटर इंस्टीट्यूशनल कल्चर एक्ट्रावेंजा’ गुरुवार से शुरू हुआ। कार्यक्रम उद्घाटन मुख्य अतिथि केरल के मुख्य सचिव संजीव कौशिक ने किया। उन्होंने कहा कि यदि छात्र शिक्षकों का सम्मान करता है तो वह हर उम्र में उन्नति करेगा, उसका जीवन अनुशासित होगा। 1प्रतिभा कला एवं कौशल का संगम समाहित करता जोजोफेस्ट 2017 का शानदार आगाज हुआ। कालेज प्रांगण में आयोजित इस कार्यक्रम में नगर के विभिन्न प्रतियोगिताओंका आयोजन किया गया। स्वागत प्रधानाचार्य फादर राल्फी डिसूजा ने किया। शुरुआत ईशवंदना से हुई। पहले दिन प्रतियोगिताओं में नगर व शहर से बाहर की टीमों ने पूरे जोशो खरोश के साथ भाग लिया। अंग्रेजी वाद-विवाद प्रतियोगिता ने विभिन्न विद्यालयों के छात्रों ने नैतिकता एवं सम्मान में अंतर को स्पष्ट किया। अंग्रेजी समूह गान में प्रथम स्थान पर आइपीइएम इलाहाबाद, द्वितीय स्थान पर संत जोसेफ कॉलेज और तीसरे स्थान पर बीएचएस रहा। हंिदूी रचनात्मक लेखन प्रतियोगिता में प्रथम एसएमएस मिर्जापुर, द्वितीय स्थान पर बीएचएस रहा। तृतीय स्थान पर एमपीवीएम एवं एसटीएस कानपुर रहे। अंग्रेजी वाद विवाद प्रतियोगिता में सर्वश्रेष्ठ वक्ता पक्ष में प्रथम सेंट जोसेफ के अवतेज सिंह रहे। द्वितीय स्थान पर एसएमसी की स्निग्धा तिवारी और तीसरे स्थान पर बीएचएस के लक्ष्य कवात्र रहे। सर्वश्रेष्ठ वक्ता विपक्ष में प्रथम स्थान पर एसजेसी के यशश्वी राज, द्वितीय स्थान पर बीएचएस के ऋषभ नारायण सिंह रहे। तृतीय स्थान पर एसएमएस मिर्जापुर की खुशी मल्होत्र रही। वाद विवाद प्रतियोगिता में सेंट जोसेफ प्रथम रहा।1सर्वश्रेष्ठ प्रश्नकर्ता आइपीइएम की मुस्कान रहीं, दूसरे स्थान पर एमएमसी की स्निग्धा तिवारी रहीं। बैंड प्रतियोगिता में एसजेसी, बीएचएस, जीएचएस और एसएमसी ने इनाम जीता। कार्यक्रम में प्रधानाचार्य फादर रॉल्फी डिसूजा उप-प्रधानाचार्य फादर जोसेफ सगाई नाथन, प्रधानाध्यापक फादर टाइटस लोबो, कालेज प्रशासक ए. मगावन एवं ज्योति दूबे उपस्थित रहे।


शिक्षकों के सम्मान से अनुशासित बनते हैं छात्र Rating: 4.5 Diposkan Oleh: amit gangwar

0 comments:

Post a Comment

RELATED POSTS