वेबसाइट में खोजें

Saturday, December 30, 2017

परिषदीय विद्यालय में महिला शिक्षामित्रों के बीच मारपीट की जांच खंड शिक्षा अधिकारी को सौंपी, महाराजगंज जिले का मामला

परिषदीय विद्यालय में महिला शिक्षामित्रों के बीच मारपीट की जांच खंड शिक्षा अधिकारी को सौंपी.

महराजगंज : जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी जगदीश शुक्ल ने प्राथमिक विद्यालय चौपरिया द्वितीय में 26 दिसंबर को दोपहर में महिला शिक्षामित्रों के बीच विवाद व मारपीट की जांच शुक्रवार को खंड शिक्षा अधिकारी सदर राजेश कुमार को सौंपी और सात दिन के भीतर रिपोर्ट मांगी है। सदर कोतवाली थाना अंतर्गत स्थित प्राथमिक विद्यालय चौपरिया द्वितीय की हेडमास्टर शांति सिंह ने आज जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में हेडमास्टर ने लिखा है कि बीते 26 दिसंबर को विद्यालय में शिक्षामित्र रमाकांती त्रिपाठी व अनीता यादव पहुंची। दोनों में रजिस्टर पर पहले हस्ताक्षर को लेकर विवाद हुआ। विवाद के बाद रमाकांती त्रिपाठी ने 100 नंबर पर फोन कर पुलिस बुला ली। पुलिस आई और दोनों शिक्षामित्रों का बयान लेने के बाद चली गई। इसके बाद रमाकांती त्रिपाठी सदर कोतवाली थाने पर पहुंची और विद्यालय में भ्रष्टाचार व मारपीट का फर्जी आरोप लगाकर शिक्षामित्र अनीता यादव समेत चार पर मुकदमा दर्ज करा दिया। दोनों शिक्षा मित्रों के बीच हुए विवाद के कारण विद्यालय की छवि खराब हो रही है, इसलिए इसकी किसी ईमानदार अधिकारी से जांच कराई जाए और जिसका भी दोष हो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाए। बीएसए को ज्ञापन देने के बाद हेडमास्टर शांती सिंह ने प्रेस को जारी विज्ञप्ति में बताया कि हाजिरी बनाने को लेकर विद्यालय में शिक्षा मित्र अनीता यादव व रमाकांती त्रिपाठी के बीच विवाद हुआ। दोनों के बीच मारपीट नहीं हुई। विद्यालय में भ्रष्टाचार व्याप्त होने का आरोप निराधार है। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी जगदीश शुक्ल ने बताया कि प्राथमिक विद्यालय चौपरिया द्वितीय में 26 दिसंबर को हुई मारपीट की जांच आज खंड शिक्षा अधिकारी सदर राजेश कुमार को सौंपी और सात दिन के भीतर रिपोर्ट मांगी है। जांच रिपोर्ट के आधार पर दोषी शिक्षामित्र के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी

परिषदीय विद्यालय में महिला शिक्षामित्रों के बीच मारपीट की जांच खंड शिक्षा अधिकारी को सौंपी, महाराजगंज जिले का मामला Rating: 4.5 Diposkan Oleh: UpdateMarts Primary Ka Master