वेबसाइट में खोजें

Thursday, December 7, 2017

योगी सरकार के शासन-प्रशासन के रडार पर आंगनबाड़ी, ड्यूटी पर वापस नहीं लौटीं तो जा सकती है नौकरी, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता भी आर-पार की लड़ाई को तैयार

आजमगढ़ : पिछले कई माह से आंदोलन कर रही आंगनबाड़ी कार्यकर्ता शासन-प्रशासन के पूरी तरह से रडार पर हैं। इनके खिलाफ पूरी तरह से कार्रवाई की तैयारी कर ली गई है। दूसरी तरफ आंगनबाडी कार्यकर्ताओं ने भी आंदोलन को तेज करने की धमकी दी है। कहा है कि जब तक उनकी मांगों को पूरा नहीं किया जाता है वह आंदोलन जारी रखेंगी। कुल मिलाकर आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की नौकरी भी खतरे में पड़ सकती हैं। इसके बावजूद उनका धरना प्रदर्शन कलेक्ट्रेट स्थित रिक्शा स्टैंड पर चल रहा है।1जनपद में शहर को छोड़कर कुल 22 विकास खंडों में कुल 5588 आंगनबाड़ी कार्यकर्ता हैं। इसके अलावा 4665 आंगनबाड़ी सहायिकाएं हैं। सभी आंगनबाड़ी केंद्रों पर सीडीपीओ की तैनाती की गई है। आंगनबाड़ी कार्यकर्ता को प्रतिमाह 3500 रुपये मानदेय तथा सहायिकाओं को 1500 रुपये मानदेय दिया जाता है। 1यह गांव में जहां गर्भवती महिलाओं के लिए पंजीरी बंटवाती हैं वहीं गर्भवती महिलाओं की तरह-तरह की सहायताएं भी करती हैं। पिछले तीन माह से लगातार अपनी तेरह सूत्रीय मांगों को लेकर आंगनबाड़ी कायकर्ता आंदोलित हैं। इसकी वजह से गर्भवती महिलाओं सहित गांवों में महिलाओं व बच्चों को सरकार की योजनाओं का लाभ नहीं मिल रहा है। सभी आंगनबाड़ी केंद्र पर ताले लटके हुए हैं। यही नहीं आंगनबाड़ी कार्यकर्ता लखनऊ जाकर भी धरना प्रदर्शन कर चुकी हैं। यहां आश्वासन दिया गया लेकिन इसके बावजूद इनका आंदोलन थमने का नाम नहीं ले रहा है। दूसरी तरफ जिला कार्यक्रम अधिकारी पवन कुमार ने भी कड़ा रुख अपनाया है और अब तक 3215 कार्यकर्ताओं का मानदेय रोक दिया गया है। इसकी वजह से आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं में हड़कंप की स्थिति व्याप्त है। 1कार्यकर्ताओं का कहना है कि अगर उनकी मांगों को पूरा नहीं किया जाता है तो उनका आंदोलन जारी रहेगा। ऐसे में प्रशासन व कार्यकर्ताओं की हठ की वजह से अब स्थिति पूरी तरह बिगड़ सकती है। प्रशासन इन कार्यकर्ताओं को अब बर्खास्त करने की तैयारी में जुटा हुआ है। कुल मिलाकर आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं पर शासन-प्रशासन की तलवार किसी भी समय घूम सकती है। 1’उत्तर प्रदेश सरकार अपने घोषणा पत्र का पालन कर 15000 आंगनबाड़ी व मिनी आंगनबाड़ी को तथा सहायिका को दस हजार रुपये मानदेय दिया जाए

योगी सरकार के शासन-प्रशासन के रडार पर आंगनबाड़ी, ड्यूटी पर वापस नहीं लौटीं तो जा सकती है नौकरी, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता भी आर-पार की लड़ाई को तैयार Rating: 4.5 Diposkan Oleh: amit gangwar

0 comments:

Post a Comment

RELATED POSTS