28.11.17

दारोगा भर्ती परीक्षा की सुरक्षा-व्यवस्था परखी, परीक्षा केंद्रों की सिक्योरिटी को लेकर हुआ मंथन


लखनऊ : दारोगा भर्ती परीक्षा का पेपर लीक होने के बाद नए सिरे से परीक्षा कराने की बेहद बड़ी है। इस बार शासन परीक्षा की सुरक्षा-व्यवस्था में कोई कोरकसर नहीं छोड़ना चाह रहा। 12 से 22 दिसंबर के मध्य होने वाली दारोगा भर्ती की ऑनलाइन परीक्षा को लेकर सोमवार को प्रमुख सचिव गृह अरविंद कुमार के नेतृत्व में विशेष बैठक हुई।

बैठक में डीजीपी सुलखान सिंह के अलावा गृह विभाग के अधिकारियों, पुलिस प्रोन्नति एवं भर्ती बोर्ड व एसटीएफ के अधिकारियों ने सुरक्षा पहलुओं पर विचार-विमर्श किया। खासकर साइबर सुरक्षा व केंद्रों की सुरक्षा को लेकर मंथन किया गया। बैठक में खासकर अब तक किए गए बंदोबस्त की क्रमवार समीक्षा की गई। ध्यान रहे, 3307 पदों पर दारोगा भर्ती परीक्षा होनी है। गत दिनों 25 जुलाई को ऑनलाइन परीक्षा का पेपर लीक हो गया था। मामले में एसटीएफ के साइबर थाने में रिपोर्ट दर्ज कराए जाने के साथ ही परीक्षा रद कर दी गई थी। इस बार खासकर परीक्षा की साइबर सुरक्षा को लेकर कसरत की जा रही है।

एसटीएफ को इसके पुख्ता बंदोबस्त किए जाने के साथ ही पूर्व में विभिन्न परीक्षाओं के दौरान पेपर लीक कराने वाले गिरोह पर कड़ी नजर रखे जाने को कहा गया है। 1एक बार किरकिरी होने के बाद शासन दारोगा भर्ती परीक्षा में किसी चूक की गुंजाइश नहीं रखना चाह रहा। बताया गया कि पूर्व में जिस निजी एजेंसी को ऑनलाइन परीक्षा कराने का कांट्रेक्ट दिया गया था, वही एजेंसी इस बार भी परीक्षा करायेगी। डीजीपी से खासकर सभी परीक्षा केंद्रों पर सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त कराए जाने को कहा गया है। सभी परीक्षा केंद्रों पर डिप्टी एसपी/इंस्पेक्टर स्तर के अधिकारी को बतौर पर्यवेक्षक तैनात किए जाने की भी तैयारी है।’प्रमुख सचिव गृह के नेतृत्व में हुई विशेष बैठक1’ परीक्षा केंद्रों की सिक्योरिटी को लेकर हुआ मंथन


दारोगा भर्ती परीक्षा की सुरक्षा-व्यवस्था परखी, परीक्षा केंद्रों की सिक्योरिटी को लेकर हुआ मंथन Rating: 4.5 Diposkan Oleh: AMIT GANGWAR

प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु महत्वपूर्ण नोट्स और वीडियो