17.2.18

पीएम को शिक्षक की भूमिका में देख चहके छात्रों के चेहरे, छात्र-छात्रओं की प्रतिक्रिया विभिन्न स्कूलों में दिखाया गया परीक्षा पर चर्चा कार्यक्रम

इलाहाबाद : छात्र-छात्रओं के लिए शुक्रवार की दोपहर कुछ खास थी। छात्र-छात्रओं के सामने टेलीविजन की स्क्रीन पर गुरु जी की भूमिका में थे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। उनके हर वाक्य को समझने बूझने की उत्सुकता दिख रही थी। 1ज्वाला देवी गंगापुर इंटर कालेज रसूलाबाद में प्रधानमंत्री का संबोधन सुन रही कक्षा आठ की छात्र
सोनल सिंह अभिभूत नजर आई। कक्षा सात के मुदित द्विवेदी का प्रधानमंत्री का यह सूत्र वाक्य भाया कि, ‘जब हमें खुद पर विश्वास नहीं होगा तो भगवान भी साथ नहीं देता है।’ यहीं अपर्णा द्विवेदी ने कहा कि प्रधानमंत्री के संबोधन से उन्होंने यह सीख ली कि हमारी पढ़ाई का उद्देश्य सिर्फ धनार्जन नहीं होना चाहिए। छात्र विवेकानंद को पीएम की यह बात भाई कि हमें प्रतिस्पर्धा नहीं बल्कि अनुस्पर्धा करनी चाहिए। अंकिता सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री परीक्षा के बारे में इतना कुछ बता सकते है विश्वास ही नहीं हो रहा। अनिमेश मिश्र ने कहा कि आचार्यो की तरह प्रधानमंत्री ने हमें परीक्षा और उसकी पूर्व तैयारी के बारे में अच्छी जानकारी दी। 1महर्षि पतंजलि विद्यामंदिर में कक्षा छह से 12 के छात्रों ने कक्षों में छोटे स्क्रीन पर सजीव कार्यक्रम सुना और प्रधानमंत्री की इस पहल की सराहना की। सेंट्रल हाल में बड़ी संख्या में बच्चों के बैठने का प्रबंध किया गया था। प्रधानाचार्या सुष्मिता कानूनगो ने बताया कि विद्यालय के बच्चों ने अपने प्रश्न ‘माई गवर्नमेंट’ वेबसाइट पर भी भेजे थे। 1अभिभावक भी हुए शामिल : केंद्रीय विद्यालय झलवा में आयोजित कार्यक्रम में छात्र-छात्रओं के अतिरिक्त अभिभावकों ने भी शिरकत की। यहां परीक्षार्थियों के मन से भय निकालने के लिए कार्यशाला भी हुई। फाफामऊ स्थित गंगा गुरुकुलम में विद्यार्थियों ने उत्साह के साथ यह कार्यक्रम देखा। एसएस खन्ना डिग्री कालेज में पाठशाला आडिटोरियम में छात्रओं को सीधा प्रसारण दिखाया गया।

पीएम को शिक्षक की भूमिका में देख चहके छात्रों के चेहरे, छात्र-छात्रओं की प्रतिक्रिया विभिन्न स्कूलों में दिखाया गया परीक्षा पर चर्चा कार्यक्रम Rating: 4.5 Diposkan Oleh: AMIT GANGWAR

प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु महत्वपूर्ण नोट्स और वीडियो