10.2.18

समीक्षा-सहायक समीक्षा अधिकारी भर्ती परीक्षा-2017 पर असमंजस: प्रारंभिक परीक्षा टलने के आसार से आयोग का भी इन्कार नहीं परीक्षा विभाग में तैयारी संबंधित कामकाज पड़े शिथिल

इलाहाबाद : आरओ-एआरओ 2017 में आवेदन करने वाले लाखों अभ्यर्थियों को प्रारंभिक परीक्षा के लिए लंबा इंतजार करना पड़ सकता है। उप्र लोकसेवा आयोग में सपा शासनकाल में हुई सभी भर्तियों की
सीबीआइ जांच जारी है जिसके चलते परीक्षा विभाग में आगामी परीक्षाओं संबंधित तैयारियां शिथिल पड़ी हैं। कंप्यूटर आदि व्यस्त रखे गए हैं। फरवरी में ही प्रस्तावित दो परीक्षाओं के स्थगित हो जाने के बाद आसार जताए जा रहे हैं कि आरओ-एआरओ ही नहीं, कई अन्य परीक्षाएं भी स्थगित हो सकती हैं।
आरओ-एआरओ 2017 के 460 सामान्य और पांच विशेष/बैकलॉग पदों के लिए प्रारंभिक परीक्षा आठ अप्रैल को प्रस्तावित है। इसमें शामिल होने के लिए पांच लाख 30 हजार से अधिक प्रतियोगियों ने आवेदन किया है। आवेदनों की हार्ड कापियां अभी जमा हो रही हैं। आयोग के परीक्षा विभाग की ओर से तैयारियां अभी शुरू नहीं हो सकी हैं, क्योंकि अधिकांश कंप्यूटरों से सीबीआइ अधिकारी पूर्व में हो चुकी भर्ती के रिकार्ड खंगाल रहे हैं तो कर्मचारी व अधिकारी सहयोगात्मक रूप से जांच टीम के साथ जुटे हैं। आयोग ने हाल ही में 11 और 25 फरवरी को प्रस्तावित परीक्षाओं को स्थगित किया है। 17 मार्च को प्रस्तावित पीसीएस 2017 की मुख्य परीक्षा भी तारीख में बदलाव करते हुए दो महीने आगे बढ़ाई गई है। आरओ-एआरओ 2017 की प्रस्तावित तारीख आठ अप्रैल है, इस पर भी असमंजस व्याप्त हो गया है। आयोग का कहना है कि परीक्षाओं के साथ विभिन्न परिणाम भी प्रभावित हो रहे हैं। कुछ बैकलॉग लंबित हैं। आरओ-एआरओ 2017 की प्रारंभिक परीक्षा के टलने से भी आयोग ने इन्कार नहीं किया है। फिलहाल आवेदनों की हार्ड कापी ली जा रही है। परीक्षा की तैयारियों पर समिति शीघ्र चर्चा करेगी।


समीक्षा-सहायक समीक्षा अधिकारी भर्ती परीक्षा-2017 पर असमंजस: प्रारंभिक परीक्षा टलने के आसार से आयोग का भी इन्कार नहीं परीक्षा विभाग में तैयारी संबंधित कामकाज पड़े शिथिल Rating: 4.5 Diposkan Oleh: AMIT GANGWAR

प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु महत्वपूर्ण नोट्स और वीडियो