Apr 15, 2018

कक्षा नौ व 10 के दलित छात्रों की छात्रवृत्ति 750 रुपये बढ़ेगी


लखनऊ :मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को एलान किया कि सरकार पूर्वदशम कक्षाओं (कक्षा नौ व 10) में पढ़ने वाले दलित छात्रों को दी जाने वाली छात्रवृत्ति की राशि को 2250 से बढ़ाकर 3000 रुपये करने जा रही है। साथ ही, सरकार दलित छात्रों को पूर्वदशम और दशमोत्तर (दसवीं से आगे की कक्षाओं) छात्रवृत्ति देने के लिए आयसीमा को दो लाख से बढ़ाकर ढाई लाख रुपये करने जा रही है।

डॉ.भीमराव आंबेडकर की जयंती पर आंबेडकर महासभा में आयोजित कार्यक्रम में योगी ने यह घोषणा की। उन्होंने कहा कि पिछली सरकार के कार्यकाल में अनुसूचित जाति के 21 लाख छात्रों में से सिर्फ 14 लाख को ही छात्रवृत्ति मिली। उनकी सरकार ने न सिर्फ अनुसूचित जाति के सभी 21 लाख छात्रों को छात्रवृत्ति दी बल्कि इस साल छात्रवृत्ति पाने वाले छात्रों की संख्या 23 लाख पहुंच गई है।

एससी/एसटी एक्ट के मामलों के लिए 25 नए कोर्ट : मुख्यमंत्री ने यह भी एलान किया कि अनुसूचित जाति/जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम, 1989 के तहत दर्ज हुए मुकदमों के त्वरित निस्तारण और दोषियों को जल्द सजा दिलाने के मकसद से प्रदेश में 25 नए कोर्ट गठित होने जा रहे हैं।
अति दलितों, पिछड़ों को लाभ दिलाने के लिए कमीशन : मुख्यमंत्री ने कहा कि मुसहर व अन्य अति दलित और पिछड़ी जातियों को सरकारी योजनाओं का लाभ दिलाने के बारे में सुझाव देने के लिए सरकार कमीशन गठित करेगी।
दलितों, गरीबों को निश्शुल्क इलाज का लाभ : योगी ने कहा कि राज्य सरकार दलितों और गरीबों को केंद्र की आयुष्मान भारत योजना के तहत पांच लाख रुपये तक के निश्शुल्क इलाज की सुविधा उपलब्ध कराएगी।

महापुरुषों को लेकर न हो राजनीति : नाईक : कार्यक्रम में राज्यपाल राम नाईक ने कहा कि उनकी पहल पर प्रदेश सरकार के अभिलेखों में बाबासाहब का नाम डॉ.भीमराव रामजी आंबेडकर हुआ लेकिन इसे लेकर वितंडा खड़ा किया गया। उन्होंने कहा कि महापुरुषों को लेकर राजनीति नहीं होनी चाहिए।


प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु महत्वपूर्ण नोट्स और वीडियो