🔎Search Me

06 April 2018

स्कूल से दूर स्वच्छता अभियान: प्रयोग के लायक नहीं हैं शौचालय, हकीकत जानकर भी अनजान हैं अधिकारी


कर्नलगंज (गोंडा) : सरकार स्वच्छ भारत मिशन का अभियान चलाकर गांवों के प्रत्येक घर में शौचालय होने की व्यवस्था कर रही है जिससे प्रदेश व देश में स्वच्छता कायम हो सके। वहीं शिक्षा विभाग से इस मुहिम में पिछले पांव नजर आ रहा है। विभाग के अधिकारी जिले के लगभग सभी स्कूलों में शौचालय संचालित होने का दावा कर रहे हैं, लेकिन हकीकत कुछ और ही है। लगभग सभी स्कूलों में शौचालय बने हैं पर उनमें से किसी का संचालन नहीं हो पा रहा है। गुरुवार को जागरण टीम ने स्कूलों में बने शौचालयों का जायजा लिया तो स्थिति सामने आई। प्रस्तुत है रिपोर्ट-1प्राथमिक विद्यालय करुआ में तीन शौचालय बने हैं जिसमें एक आंगनबाड़ी का बताया गया, जो पूरी तरह से कूड़े से पटा है। स्कूल के दो शौचालय में एक तो पूरी तरह से निष्प्रयोज्य है वहीं दूसरा भी जाम हो चुका है। प्रधानाध्यापक सुमनलता श्रीवास्तव ने बताया कि सफाईकर्मी कभी भी इसकी सफाई करने नहीं आते हैं।प्राथमिक विद्यालय कुतुबपुर। यहां तो छात्र-छात्रओं को शौच के लिए बाहर जाना पड़ता है।


प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु महत्वपूर्ण नोट्स और वीडियो