🔎Search Me

Apr 7, 2018

UP BED: 11 अप्रैल को बीएड की प्रवेश परीक्षा व 10 मई से पहले आएगा परिणाम, एक जून से बीएड काउंसलिंग, नहीं हो सकेगा सीटों में फेरबदल


11 अप्रैल को बीएड की प्रवेश परीक्षा व 10 मई से पहले आएगा परिणाम, एक जून से बीएड काउंसलिंग, नहीं हो सकेगा सीटों में फेरबदल
11 अप्रैल को बीएड की प्रवेश परीक्षा
प्रो. खरे ने बताया कि एक जून से काउंसलिंग प्रक्रिया शुरू होगी। इसके बाद अलग-अलग चरण में काउंसलिंग आयोजित की जाएगी। विद्यार्थियों की ई-मेल और मोबाइल नंबर पर मेसेज के माध्यम से उन्हें सूचित कर दिया जाएगा। इससे विद्यार्थियों को तो सहूलियत होगी ही। साथ ही विवि का भी समय और खर्च कम हो जाएगा।
प्रो. एनके खरे ने बताया कि इस बार पूरी प्रक्रिया में कई बड़े बदलाव किए गए हैं। 11 अप्रैल को बीएड की प्रवेश परीक्षा आयोजित की जाएगी और 10 मई से पहले इसका परिणाम घोषित कर दिया जाएगा। इस बार विद्यार्थियों को केंद्र पर काउंसलिंग के लिए नहीं आना है क्योंकि ऑनलाइन काउंसलिंग होगी। विद्यार्थी साइबर कैफे या अपने लैपटॉप से चाइस लॉक कर देगा। इसके बाद सीट अलॉटमेंट की सूचना लॉग इन के माध्यम से भेज दी जाएगी। इससे पहले सभी कॉलेजों को रजिस्ट्रार के पास अपनी सीटों का ब्योरा भेजना है। रजिस्ट्रार उसे 20 मई तक पोर्टल पर अपडेट कर देंगे। इसके बाद इसमें कोई भी परिवर्तन नहीं हो सकेगा। जिस कॉलेज की जितनी सीट होंगी उसी पर दाखिले होंगे।
बीएड के दाखिलों में इस बार कॉलेजों का फर्जीवाड़ा नहीं चलेगा। लखनऊ विश्वविद्यालय इस बार से ऑनलाइन काउंसलिंग करवाने जा रहा है। ऐसे में कोई भी कॉलेज सीटों में फेरबदल नहीं कर सकेंगे। पिछले साल तक फिजिकल काउंसलिंग होने से कॉलेज के पास अगर आर्ट्स की सीटें भर जाती थीं तो वह साइंस को आर्ट्स में तब्दील कर प्रवेश ले लेते या साइंस की भर गई तो आर्ट्स में उसे बदल लेते, जबकि इस बार ऐसा नहीं होगा क्योंकि सारा डेटा इस बार ऑनलाइन होगा। ऐसे में कोई बदलाव बाद में नहीं किया जा सकेगा। शुक्रवार को एलयू में बीएड के सभी 11 शहरों के नोडल अधिकारियों की बैठक थी। इसमें राज्य समन्वयक प्रो. एनके खरे ने सभी को इस बार प्रवेश परीक्षा और काउंसलिंग की जानकारी दी।


प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु महत्वपूर्ण नोट्स और वीडियो