🔎Search Me

May 2, 2018

इस साल 3 लाख युवाओं को कौशल प्रशिक्षण दे रोजगार से जोड़ेंगे: सीएम योगी

लखनऊ : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश में हुनरमंदों की कमी नहीं है, जरूरत उनकी ब्रांडिंग की है। सरकार युवाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए इस साल तीन लाख युवाओं को कौशल विकास का प्रशिक्षण दिलाएगी। इसके साथ ही ‘वन डिस्टिक्ट, वन प्रोडक्ट योजना’ के जरिये अगले तीन साल में 20 लाख लोगों को रोजगार से जोड़ा जाएगा। ‘मेक इन इंडिया’, ‘स्टार्ट-अप इंडिया’ की तर्ज पर ‘वेक अप यूपी’, ‘स्टार्ट-अप यूपी’ को लागू किया जाएगा।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मंगलवार को इंदिरा प्रतिष्ठान में राज्य कौशल विकास प्रतियोगिता के उद्घाटन समारोह को संबोधित कर रहे थे। इससे पहले उन्होंने और राज्यपाल राम नाईक ने इस प्रतियोगिता का उद्घाटन किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में ढेर सारी संभावनाएं हैं। हर जिले के क्लस्टर्स हैं। इनके विकास के लिए ढाई सौ करोड़ रुपये दिए गए हैं। राज्य की सभी 350 तहसीलों में कौशल विकास केंद्र खोले गए हैं। इसका लाभ युवाओं को मिलेगा। कम पूंजी में अधिक से अधिक लोगों को रोजगार मिल सकेगा और पूंजी की सुरक्षा की भी गारंटी होगी। उन्होंने कहा कि सरकार युवाओं को हर स्तर पर सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्हें व्यवसाय शुरू करने के लिए पूंजी से लेकर हर किस्म की सुविधाएं दी जाएंगी। युवाओं को यदि घर में ही रोजगार मिलने लगेगा तो उनका पलायन रुक जाएगा।1योगी ने कहा कि हमारा प्रदेश प्रधानमंत्री की योजनाओं को मंच देने में सक्षम है। पीएम ने स्वच्छ अभियान के तहत शौचालयों के निर्माण का अभियान शुरू किया। इसके लिए धन भी उपलब्ध कराया। लेकिन, हर घर में शौचालय के लिए पर्याप्त राजमिस्त्री भी चाहिए। हमने जिलों में ऐसे लोगों को प्रशिक्षित किया और शौचालयों के निर्माण का लक्ष्य हासिल करने में भी सफल रहे। राज्यपाल राम नाईक ने कहा कि प्रदेश के आगे बढ़ने पर ही देश आगे बढ़ेगा। आज दुनिया की दूरी कम हो रही है। सारी दुनिया नजदीक के बाजार में तब्दील होती जा रही है। कड़ी प्रतिस्पर्धा है और यह बड़ी चुनौती है। ऐसे में कौशल विकास में प्रतिभागियों का आगे आना अहम है। उन्होंने बताया कि राज्य के विश्वविद्यालयों ने 15 लाख 60 हजार से अधिक स्नातकों को डिग्री बांटी है और सुखद तथ्य यह है कि इसमें 51 प्रतिशत छात्रएं हैं। ऐसे में कौशल विकास में महिलाओं की भागीदारी पर और गंभीर होना होगा। राज्यपाल ने सुझाव दिया कि युवा कार्य के दौरान अपनी दृष्टि का विस्तार करें।


प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु महत्वपूर्ण नोट्स और वीडियो