Thursday, May 10, 2018

अभी भूख हड़ताल बाद में चक्काजाम: शिवगोपाल, एनपीएस के विरोध में जारी रहेगा रेल कर्मचारियसों का संघर्ष

अभी भूख हड़ताल बाद में चक्काजाम: शिवगोपाल

एनपीएस के विरोध में जारी रहेगा रेल कर्मचारियसों का संघर्ष

जासं, इलाहाबाद : ऑल इंडिया रेलवे मेंस फेडरेशन के महामंत्री शिवगोपाल मिश्र ने बुधवार को कहा कि न्यू पेंशन स्कीम (एनपीएस) के विरोध में अभी तो तीन दिवसीय भूख हड़ताल चल रही है। अगर हमारी मांगें नहीं मानी गई तो चक्काजाम (हड़ताल) किया जाएगा।

उत्तर मध्य रेलवे मेंस यूनियन के कार्यालय में प्रेसवार्ता के दौरान उन्होंने यह बातें कही। कहा कि रेलवे में ढाई लाख से अधिक पद खाली हैं, लेकिन अभी एक लाख 10 हजार पदों पर भर्ती की प्रक्रिया चल रही है। इस साल 46 हजार कर्मचारी सेवानिवृत्त हो जाएंगे। इस अनुपात से रेलकर्मियों की अगले कई सालों तक कमी रहेगी। इसके कारण सेफ्टी पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है। समय पर मरम्मत कार्य न होने के कारण ट्रेनों की लेटलतीफी यात्रियों को ङोलनी पड़ रही है। उन्होंने कहा कि मंगलवार से पूरे देश में एनपीएस के विरोध में तीन दिवसीय भूख हड़ताल चल रही है। क्रमिक अनशन में तीन लाख कर्मचारी शामिल हैं। जब तक पुरानी पेंशन व्यवस्था बहाल नहीं होगी, तब तक संघर्ष जारी रहेगा।

शिवगोपाल मिश्र ने कहा कि भूख हड़ताल के बाद वित्तमंत्री के आवास के सामने अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल होगी। उसके बाद हड़ताल यानि चक्काजाम का फैसला लिया जाएगा। दो साल पहले जब हड़ताल की घोषणा की गई थी, तब केंद्र सरकार के आश्वासन पर उसे स्थगित कर दिया गया था, लेकिन आज तक उन समझौतों पर अमल नहीं हुआ है। इससे रेलकर्मियों में आक्रोश है। उन्होंने कहा कि रेल बजट और आम बजट एक साथ करने से रेलवे को कोई फायदा नहीं हुआ है। बल्कि घटा हुआ है। उत्तर मध्य रेलवे मेंस यूनियन के महामंत्री आरडी यादव ने कहा कि जो वार्षिक अवार्ड दिए जाते हैं। उसमें पक्षपात होता है। मेहनत और ईमानदारी से काम करने वाले मात्र 20 फीसद कर्मचारी अवार्ड पाते हैं। 80 फीसद चटुकारिता करने वाले सम्मान से नवाजे जाते हैं।

अभी भूख हड़ताल बाद में चक्काजाम: शिवगोपाल, एनपीएस के विरोध में जारी रहेगा रेल कर्मचारियसों का संघर्ष Rating: 4.5 Diposkan Oleh: AMIT GANGWAR

शिक्षक भर्ती लिखित परीक्षा हेतु महत्वपूर्ण नोट्स और वीडियो