May 3, 2018

समूह ग व घ की भर्ती का खुला रास्ता: देनी होगी लिखित परीक्षा, नहीं होंगे साक्षात्कार


इलाहाबाद : इलाहाबाद विश्वविद्यालय व संघटक 11 महाविद्यालयों में कई दशक से खाली चल रहे समूह ग व घ के पदों को भरने का रास्ता साफ हो गया है। कार्य परिषद ने विगत माह आयोजित की गई बैठक में भर्ती नियमावली को हरी झंडी दे दी है। अब कुलपति की मंजूरी का इंतजार है।1 कुलपति की मंजूरी मिलने के बाद विश्वविद्यालय व महाविद्यालयों में समूह ग व घ के रिक्त पदों को भरने की प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी। विवि व महाविद्यालयों में लगभग 400 पद रिक्त हैं। ऐसे में काम का बोझ कर्मचारियों व शिक्षकों पर बढ़ता जा रहा है। अभी जो कर्मचारी काम कर रहे हैं या जो स्वीकृत पद हैं वे महाविद्यालयों में यूजी स्तर के पाठ्यक्रम के अनुसार ही हैं। अब विवि ने महाविद्यालयों में भी परास्नातक के पाठ्यक्रमों को मंजूरी दे दी है। शोध भी कराए जाने की तैयारी है। ऐसे में बिना समूह ग व घ के अब काम नहीं चल पा रहा है। यही कारण है कि समूह ग व घ के रिक्त पदों को भरने की लंबे समय से मांग की जाती रही है। गत वर्ष इसका रेगुलेशन व भर्ती नियमावली बनाने के लिए एक समिति का गठन किया गया था। उस समिति ने अप्रैल प्रथम सप्ताह में हुई कार्यपरिषद की बैठक में समूह ग व घ की भर्ती नियमावली को रखा, जिसे कार्य परिषद ने मंजूर कर लिया है। कार्यपरिषद के मिनट्स पर अभी कुलपति के दस्तखत नहीं हुए हैं। कुलपति प्रो. रतन लाल हांगलू के अवकाश पर हैं।

देनी होगी लिखित परीक्षा, नहीं होंगे साक्षात्कार
समूह ग व घ की भर्ती लिखित परीक्षा, स्किल टेस्ट के आधार पर होगी। केंद्र सरकार द्वारा समूह ग व घ के पदों में साक्षात्कार खत्म करने के निर्णय के बाद यह कदम उठाया गया है। चौधरी महादेव प्रसाद महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. आनंद श्रीवास्तव ने बताया कि लिखित परीक्षा के बाद स्किल टेस्ट भी देना होगा। उन्होंने बताया कि जैसे ही कुलपति की मंजूरी मिल जाएगी भर्ती प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी।


प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु महत्वपूर्ण नोट्स और वीडियो