🔎Search Me

03 May 2018

शिक्षक बनने की अर्हता ले रहे अभ्यर्थी भी नकल की जुगाड़ में लिप्त, डीएलएड (D.EL,ED.) का पेपर आउट, डीएम ने बैठाई जांच


फतेहपुर : शिक्षक बनने की अर्हता ले रहे अभ्यर्थी भी नकल की जुगाड़ में रहते हैं। पूरे प्रदेश में चल रही डीएलएड परीक्षा के दूसरे दिन जिम्मेदारों में उस समय हलचल मच गई जब सोशल मीडिया में दूसरी व तीसरी पॉली में गणित व समाजिक विज्ञान का प्रश्न पत्र सुबह ही आ गए। पहले तो अधिकारी यह कहकर बचाव करते रहे कि सोशल मीडिया का प्रश्नपत्र फर्जी है। लेकिन, जब प्रश्नपत्र बंटा तो मिलान में सभी प्रश्न एक ही पाए गए। डीएम ने मामले की जांच डीआइओएस को सौंपते हुए सभी केंद्रों के प्रश्नपत्र लिफाफे चेक कराए तो सही पाए गए। डायट प्राचार्य ने कहा कि पूरे प्रदेश का एक ही प्रश्नपत्र है किसी दूसरे जिले से लीक हो सकता है।1डीएलएड की परीक्षा मंगलवार से जिले के नौ केंद्रों में शुरू हुई। तीन पालियों में हो रही परीक्षा में बुधवार को विज्ञान की सुबह 10 से 11, गणित की दोपहर 12 से 1 तीसरी पाली की परीक्षा शाम 3 से 4 बजे सामाजिक अध्ययन की परीक्षा कराई गई। सुबह आठ बजे ही सोशल मीडिया में तीनों विषयों के पेपर आउट हो गए। एक ग्रुप से दूसरे ग्रुप में होते हुए यह पेपर पूरी तरह से सार्वजनिक हो गए। पेपर आउट होने की खबर डीएम कुमार प्रशांत को मिली तो उन्होंने डीआइओएस महेंद्र प्रताप सिंह को जांच करने के निर्देश दिए। देर शाम डीआइओएस ने डीएम को रिपोर्ट दिया कि सभी केंद्रों में प्रश्नपत्र के लिफाफे सीज पाए गए।

प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु महत्वपूर्ण नोट्स और वीडियो