21.6.18

नौवीं, 10वीं में अनिवार्य हुआ 10 नंबर का प्रोजेक्ट कार्य, प्रारंभिक व सामान्य गणित को मिलाकर गणित का एक विषय


अलीगढ़ : माध्यमिक शिक्षा परिषद (यूपी बोर्ड) ने पाठ्यक्रम में करते हुए कक्षा नौवीं के विद्यार्थियों के लिए चार वैकल्पिक विषय जोड़ दिए हैं। इसके साथ ही नौवीं व 10वीं के विद्यार्थियों के लिए गणित विषय में 10 नंबर का प्रोजेक्ट कार्य भी अनिवार्य कर दिया है। इसके लिए ‘भारत का पारंपरिक गणित ज्ञान’ किताब भी बढ़ाई गई है। प्रारंभिक गणित व सामान्य गणित को एक करके केवल गणित विषय पहले ही किया जा चुका है। डीआइओएस डॉ. धर्मेद्र कुमार शर्मा ने बताया कि नौवीं में शामिल किए गए चार वैकल्पिक विषय ऑटोमोबाइल, सुरक्षा, रिटेल ट्रेडिंग व आइटी-आइटीईएस हैं। लिखित परीक्षा में 23 व प्रोजेक्ट कार्य में 10 नंबर लाना अनिवार्य है। इन विषयों में सैद्धांतिक पाठ्यक्रम 70 अंक का होगा, जिसमें 23 अंक लाने होंगे। साथ में प्रोजेक्ट कार्य 30 अंक का होगा, जिसमें किसी एक प्रोजेक्ट कार्य से 10 नंबर लाने अनिवार्य होंगे। बताया कि विद्यार्थियों को रोजगारपरक शिक्षा मुहैया कराने के लिए ये निर्णय किया गया है। आटोमोबाइल शिक्षा के तहत विद्यार्थी अपनी रिपेयर वर्कशॉप व गैराज का संचालन, शोरूम स्थापना या सेल्समैन आदि का काम कर सकते हैं। सुरक्षा के तहत स्वास्थ्य सुरक्षा, आपदा प्रबंधन, प्राथमिक चिकित्सा आदि सीखकर रोजगार पा सकते हैं। रिटेल ट्रेडिंग में खुदरा व्यापार का ज्ञान, स्थानीय स्तर पर उत्पादों का प्रबंधन, खुदरा-फुटकर व्यापारियों के कार्य आदि बातें सीखेंगे। आइटी-आइटीईएस के तहत कंप्यूटर विषय का ज्ञान, हार्डवेयर व साफ्टवेयर, इनपुट व आउटपुट डिवाइस आदि के बारे में सीख सकेंगे। इन सभी में प्रोजेक्ट कार्य भी कराए जाएंगे।


नौवीं, 10वीं में अनिवार्य हुआ 10 नंबर का प्रोजेक्ट कार्य, प्रारंभिक व सामान्य गणित को मिलाकर गणित का एक विषय Rating: 4.5 Diposkan Oleh: AMIT GANGWAR

प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु महत्वपूर्ण नोट्स और वीडियो