Jun 14, 2018

शिक्षा प्रेरकों के साथ किया जाएगा न्याय, अनुपमा जायसवाल से आश्वासन मिलने के बाद दस दिन से चल रहे धरने को बुधवार को दिया विराम


लखनऊ : शिक्षा प्रेरकों ने बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार अनुपमा जायसवाल से आश्वासन मिलने के बाद दस दिन से चल रहे धरने को बुधवार को विराम दे दिया। अनुपमा जायसवाल ने प्रेरकों को आश्वस्त किया कि उनके साथ न्याय किया जाएगा। आदर्श लोक शिक्षा प्रेरक वेलफेयर असोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष सतेन्द्र यादव ने बताया विभिन्न मांगों को लेकर उनका धरना ईको गार्डन में 4 जून से चल रहा था। उन्होंने बताया कि प्रदर्शनकारियों की मांग है कि 31 मार्च 2018 के बाद समाप्त हुई योजना को नियमित रूप से चलाने के लिए पंचवर्षीय योजना में विस्तार किया जाए। अब तक 31 मार्च 2018 के अवशेष मानदेय 665 करोड़ रुपये का एक मुश्त भुगतान किया जाए। प्रशिक्षित एवं टैट क्वॉलिफाइड शिक्षा प्रेरकों को परिषदीय विद्यालय में शिक्षणेत्तर कर्मचारी के पद पर समायोजित किया जाए।

प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु महत्वपूर्ण नोट्स और वीडियो