🔎Search Me

15 June 2018

UPPSC भर्ती घोटाला मामले में सीबीआइ उगलवाएगी किसके कहने पर हुआ चयन में घालमेल


इलाहाबाद : उप्र लोकसेवा आयोग की पूर्व परीक्षा समिति के इशारे पर काम करने वाले कई पूर्व अधिकारी सीबीआइ को यह बताएंगे कि उन्होंने किसके कहने पर अभ्यर्थियों के चयन में घालमेल किया। 1 पीसीएस 2015 परीक्षा में गड़बड़ी की जांच कर रहे अफसरों ने इन पूर्व अधिकारियों को दिल्ली मुख्यालय में बुलाया है। पूछताछ वहीं होगी। संभावना जताई जा रही है कि इनके के बारे में सीबीआइ ने अब तक काफी ब्योरा एकत्र कर लिया है और पांच मई को दर्ज मुकदमे में इनकी नामजदगी हो सकती है। 1एसपी राजीव रंजन के नेतृत्व में सीबीआइ के कई वरिष्ठ अफसर इन दिनों दिल्ली मुख्यालय में ही आयोग कर्मियों व चयनित अभ्यर्थियों से पूछताछ कर रहे हैं। परीक्षा में कई बड़ी खामियां मिलने पर सीबीआइ लगातार पुष्ट कर रही है। अब तक इलाहाबाद स्थित कैंप कार्यालय में कई संदिग्ध चयनितों से पूछताछ हो चुकी है। पीसीएस 2015 के टॉपरों को भी समन भेजा गया था, हालांकि उनसे इलाहाबाद में पूछताछ नहीं हो सकी। अब आयोग कर्मियों को दिल्ली मुख्यालय बुलाया जा रहा है जिसमें अगला नंबर आयोग में पूर्व में तैनात रहे उन अधिकारियों का है जिनमें दो सेवानिवृत्त हो चुके हैं और कई को उनके पद से हटाकर दूसरे काम दिए गए हैं। सीबीआइ को पता चला है कि इन अधिकारियों को विभिन्न जिम्मेदारी पूर्व अध्यक्ष डा. अनिल यादव की मेहरबानी से मिली थी। अभ्यर्थियों के चयन में गड़बड़ी करने में इन पूर्व अधिकारियों की भी अहम भूमिका का पता चला है।

प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु महत्वपूर्ण नोट्स और वीडियो