🔎Search Me

Jul 28, 2018

डीएलएड 2018 में अब डायरेक्ट एडमिशन, राजकीय व निजी संस्थानों को सीधे प्रवेश करने की मिली अनुमति: यह होगी प्रक्रिया


इलाहाबाद : शिक्षक बनने के लिए में प्रवेश के इच्छुक अभ्यर्थियों के लिए खुशखबरी है। शासन ने प्रदेश के राजकीय व निजी कालेजों में अभ्यर्थियों को सीधे प्रवेश यानी डायरेक्ट एडमिशन की अनुमति दी है। यह कदम शत-प्रतिशत सीटें हर हाल में भरने के लिए उठाया गया है। खास बात यह है कि तीसरे चरण में प्रवेश के लिए सभी रिक्त सीटें सामान्य वर्ग की मानी जाएंगी। प्रवेश प्रक्रिया एक साथ सात से 13 अगस्त तक सभी कालेजों में चलेगी।

डीएलएड कालेजों में प्रवेश के लिए इस वर्ष 31 मई तक ऑनलाइन आवेदन लिए गए। दावेदारी करने वालों की काउंसिलिंग भी ऑनलाइन हुई और उनसे कालेजों का विकल्प लिया गया। प्रवेश के लिए पहले व दूसरे चरण में आवेदन करने वाले सभी अभ्यर्थियों को वर्ग, श्रेणी और मेरिट के अनुसार मौका दिया गया। इसके बाद भी आधी से कुछ अधिक सीटें ही किसी तरह भर सकी हैं। ऐसे में शासन ने अब सभी भरने के लिए राजकीय व निजी कालेजों को सीधे प्रवेश का अधिकार दिया है। संयुक्त सचिव ममता श्रीवास्तव की ओर से जारी में कहा गया है कि दूसरे चरण में सभी वर्ग व विशेष आरक्षण के अभ्यर्थियों को मौका दिया जा चुका है, ऐसे में अब तृतीय चरण में रिक्त सारी सीटें सामान्य वर्ग की मानी जाएंगी।

प्रदेश के सभी जिलों में संस्थानवार रिक्त सीटों की सूचना वेबसाइट पर प्रदर्शित होगी। इसके साथ ही प्रवेश न पाने वाले सभी अभ्यर्थियों की सूची उनके शैक्षिक गुणांक व मोबाइल नंबर तक प्रदर्शित होंगे, ताकि संस्थान अभ्यर्थियों से प्रवेश के संबंध में व्यक्तिगत संपर्क कर सके। यह भी निर्देश है कि जिन तीन लाख 53 हजार 140 अभ्यर्थियों ने आवेदन किया है, उन्हीं से रिक्त सीटें भरी जानी हैं और जिनका प्रवेश दूसरे कालेजों में प्रवेश हो चुका है, उन्हें कतई मौका नहीं दिया जाएगा। अभ्यर्थी इस वर्ष के ऑनलाइन आवेदन पत्र, सभी शैक्षिक व अन्य अभिलेखों के साथ रिक्त सीटों के प्रति संबंधित संस्थान में प्रवेश के लिए आवेदन करेगा। संस्थान आवेदन मिलने के बाद उन्हें पावता भी अनिवार्य रूप से देंगे।राजकीय व निजी कालेज सीधे प्रवेश के लिए प्रतिदिन उपस्थित होने वाले अभ्यर्थियों की मेरिट लिस्ट तैयार करके कालेज के नोटिस बोर्ड पर चस्पा करेंगे। इसमें प्रवेश मेरिट के अनुसार ही मिलेगा। यदि मेरिट को दरकिनार कर प्रवेश हुआ तो संस्थान पर कार्रवाई होगी।
दूसरे चरण के अंतिम फेज में 11715 को कालेज आवंटित : में प्रवेश के दूसरे चरण के दूसरे फेज में शुक्रवार को अभ्यर्थियों को कालेज आवंटित किए गए हैं। परीक्षा नियामक प्राधिकारी सचिव डा. सुत्ता सिंह ने बताया कि इस फेज में 13721 अभ्यर्थियों ने कालेज च्वाइस दी थी, उसमें से 11715 को कालेज आवंटित कर दिया गया है, जबकि 2056 के आवेदन निरस्त हुए हैं। उन्होंने बताया कि पहले व दूसरे फेज में कुल 146079 को कालेज आवंटित किया गया है।

प्रदेश के राजकीय व निजी कालेजों में इस बार 230575 सीटें हैं। अब भी 84496 सीटें खाली बच रही हैं। वास्तविक तस्वीर 31 जुलाई को मिलेगी, जब दूसरे चरण की प्रवेश प्रक्रिया पूरी हो जाएगी। उसके बाद सीधे प्रवेश के लिए सीटें भरने का प्रयास होगा।’

शत-प्रतिशत सीटें हर हाल में भरने के लिए उठाया गया कदम
तृतीय चरण में सभी सीटें सामान्य सात से 13 अगस्त तक प्रवेश

यह है प्रवेश की प्रक्रिया
छह अगस्त : परीक्षा नियामक प्राधिकारी सचिव विज्ञप्ति जारी करेंगी।
सात अगस्त : जिले के संस्थान रिक्त सीटों की सूचना वेबसाइट पर देंगे।
सात से 13 अगस्त : हर संस्थान में 10 से चार बजे तक आवेदन लिए जाएंगे, चार से पांच बजे तक मेरिट लिस्ट तैयार करके चस्पा होगी। उसी दिन प्रवेश लेने वालों की सूचना वेबसाइट पर दर्ज होगी।
14 अगस्त : वेबसाइट पर जिन अभ्यर्थियों की सूचना नहीं होगी उनका प्रवेश मान्य नहीं होगा।
कुल सीटें : 230725 ’रिक्त सीटें : करीब 90 हजार।


प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु महत्वपूर्ण नोट्स और वीडियो