27.7.18

शिक्षा विभाग के अधिकारियों को ब्लैक बोर्ड पर पढ़ाया नैतिकता का पाठ, समीक्षा बैठक में अपर मुख्य सचिव ने शिक्षकों और कर्मचारियों को बाहरी सिफारिश से बचने की हिदायत


लखनऊ : बेसिक शिक्षा विभाग के मंडलीय और जिला स्तरीय अफसरों की मौजूदगी में गुरुवार को हुई विभाग की मासिक समीक्षा बैठक कुछ अलग थी। ऐसी बैठकों में विभागीय कामकाज को लेकर पिलायी जाने वाली हिदायतों और ों की घुट्टी के अलावा अफसरों को ब्लैक बोर्ड पर लिखकर नैतिकता का पाठ भी पढ़ाया गया।

गुरुवार को राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद (एससीईआरटी) के सभागार में विभाग की मासिक समीक्षा बैठक के दौरान अपर मुख्य सचिव बेसिक शिक्षा डॉ.प्रभात कुमार ने मंडलीय और जिला स्तरीय अधिकारियों को नैतिकता के तकाजे बताये। शासन को आये दिन मिलने वाली जिला बेसिक शिक्षा अधिकारियों के भ्रष्टाचार की शिकायतों के मद्देनजर लगभग एक घंटे का उनका सत्र नेतृत्व के गुणों, सद्चरित्र और सत्यनिष्ठा पर केंद्रित रहा। इस दौरान उन्होंने ब्लैक बोर्ड पर इनसे जुड़े विभिन्न आयामों की चर्चा की और अधिकारियों को व्यक्तिगत स्तर पर अच्छे गुणों को पोषित करने पर बल दिया। अपर मुख्य सचिव ने विद्यार्थियों और अध्यापकों की संख्या के अनुपात को ध्यान में रखते हुए शिक्षकों के अंतर जिला तबादला करने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि विद्यालयों के पास जो कृषि भूमि है, उससे होने वाली आय का इस्तेमाल स्कूलों के रखरखाव के लिए किया जाए। उन्होंने शिक्षकों के बीएसए कार्यालय आने की प्रवृत्ति पर रोक लगाने के लिए कहा। रिटायर्ड शिक्षकों की पेंशन व सेवानिवृत्तिक देयों को समय से भुगतान करने का निर्देश दिया। शिक्षकों के विद्यालयों में समय से उपस्थित रहकर पठन-पाठन कार्य को सुचारु रूप से करने के निर्देश दिए। उन्होंने इस बात पर बल दिया कि शिक्षक और कर्मचारी किसी भी प्रकार की बाहरी सिफारिश की बजाय अपनी समस्याएं सीधे विभाग को बतायें। हाई कोर्ट में लंबित शपथ पत्रों को तेजी से निस्तारित करने और शिक्षा अधिकारियों के विद्यालयों का नियमित निरीक्षण करने का निर्देश दिया।

पंद्रह तक करें ‘मां’ समूह का गठन : बेसिक शिक्षा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) अनुपमा जायसवाल ने प्रदेश के सभी परिषदीय विद्यालयों में मध्यान्ह भोजन योजना के तहत ‘मां’ समूह का गठन हर हाल में 15 अगस्त तक करने का निर्देश दिया है। साथ ही मां समूहों से संबंधित सूचनाएं भी इसी तारीख तक उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा कि जिलों में जो धनराशि अब तक इस्तेमाल नहीं हुई है और लंबे समय से बैंकों में निष्प्रयोज्य पड़ी है, यदि उस रकम का संबंधित मद में उपयोग किया जा सके तो इस बारे में नियमानुसार कार्यवाही की जाए। इस धनराशि का ऑडिट भी कराया जाए। उन्होंने सर्व शिक्षा अभियान के राज्य परियोजना निदेशक को कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालयों की व्यवस्था की समीक्षा भी करने का निर्देश दिया।

अच्छा काम करने वाले शिक्षकों को प्रोत्साहित करें
राज्य मंत्री संदीप सिंह ने जिला बेसिक शिक्षा अधिकारियों से कहा कि वे ब्लॉक स्तर पर तारीख निर्धारित कर खंड शिक्षा अधिकारी और शिक्षकों के मध्य बेहतर समन्वय स्थापित करें। जो विद्यालय और शिक्षक अच्छा कार्य कर रहे हैं, उन्हें प्रोत्साहित करें।’समीक्षा बैठक में अपर मुख्य सचिव का सत्यनिष्ठा और सद्चरित्र पर जोर1’शिक्षकों और कर्मचारियों को बाहरी सिफारिश से बचने की हिदायत

शिक्षा विभाग के अधिकारियों को ब्लैक बोर्ड पर पढ़ाया नैतिकता का पाठ, समीक्षा बैठक में अपर मुख्य सचिव ने शिक्षकों और कर्मचारियों को बाहरी सिफारिश से बचने की हिदायत Rating: 4.5 Diposkan Oleh: AMIT GANGWAR

प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु महत्वपूर्ण नोट्स और वीडियो