Aug 31, 2018

बीटीसी 2015 का परिणाम जारी होने में देरी से गुस्साए अभ्यर्थियों ने घेरा सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी का कार्यालय,सुस्ती के चलते बीटीसी 2015 के अभ्यर्थियों पर आगामी सहायक अध्यापक भर्ती में शामिल हो पाने का खतरा


इलाहाबाद : बीटीसी 2015 के तीसरे सेमेस्टर का परिणाम जारी होने में देरी से गुस्साए अभ्यर्थियों ने गुरुवार को सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी के कार्यालय का घेराव किया। कहा कि यह बैच अब तक पूरा होना चाहिए था। परीक्षा संस्था की सुस्ती के चलते बीटीसी 2015 के अभ्यर्थियों पर आगामी सहायक अध्यापक भर्ती में शामिल हो पाने का खतरा है।1धरना देने पहुंचे अभ्यर्थियों ने कहा कि तीसरे सेमेस्टर का परिणाम घोषित नहीं किया जा रहा है। इससे चौथे सेमेस्टर की तारीख घोषित नहीं हो पा रही है। सचिव डा. सुत्ता सिंह कई बार परिणाम जारी करने का आश्वासन दे चुकी हैं लेकिन, अभ्यर्थियों को अब भी निराश ही किया जा रहा है। चेतावनी दी कि परिणाम जल्द घोषित न होने तक कार्यालय में धरना जारी रहेगा। बीटीसी प्रशिक्षु संयुक्त मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष सर्वेश प्रताप सिंह, अभिषेक सिंह, राजबसु यादव, आशीष पटेल, रिया देवी, शिवेंद्र प्रताप सिंह समेत अन्य अभ्यर्थी शामिल रहे।1कोर्स समय से पूरा नहीं, आगामी शिक्षक भर्ती से हो सकते हैं वंचित 1बीटीसी 2015 बैच के अभ्यर्थी तीसरे सेमेस्टर का रिजल्ट व चौथे सेमेस्टर की परीक्षा कराने का इसलिए दबाव बनाए हैं कि वे अगली करीब 96 हजार शिक्षक भर्ती में प्रतिभाग करना चाहते हैं। यह तभी संभव है, जब जल्द रिजल्ट आए और अगली परीक्षा का एलान हो। हालांकि उनका कोर्स 22 सितंबर तक पूरा होना है। परीक्षा नियामक प्राधिकारी सचिव ने उन्हें आश्वस्त किया है कि सितंबर के पहले पखवारे में तीसरे सेमेस्टर का रिजल्ट घोषित करेंगे और पाठ्यक्रम पूरा होते ही चौथे सेमेस्टर की परीक्षा कराएंगे। फिर भी अभ्यर्थी अगली भर्ती हाथ से फिसलती देखकर आश्वासन सुनने को तैयार नहीं है। वहीं, जिस तरह से एक के बाद एक परीक्षाओं का कार्यक्रम जारी हो रहा है, उससे बीटीसी 2015 की प्रक्रिया शिक्षक भर्ती के पहले पूरा हो पाने के आसार बहुत कम हैं। अभी डीएलएड 2017 प्रथम सेमेस्टर का भी रिजल्ट आना है।

प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु महत्वपूर्ण नोट्स और वीडियो