🔎Search Me

Aug 1, 2018

हाल-ए-बेसिक शिक्षा: अब तक 50 फीसद बच्चों को मिल सकी हैं नई किताबें: तीस जुलाई तक 79 फीसद बच्चों को मिली यूनिफॉर्म, 78 प्रतिशत को स्कूल बैग,तीन प्रतिशत विद्यार्थियों को ही जूते-मोजे का वितरण


लखनऊ : गर्मी की छुट्टियों के बाद जुलाई का महीना बीतने वाला है लेकिन, सरकारी और अनुदानित स्कूलों में कक्षा एक से आठ तक के सिर्फ 50 फीसद बच्चों को ही सरकार की ओर से मुफ्त में दी जाने वाली पाठ्यपुस्तकें बांटी जा सकी हैं। यह स्थिति तब है जब शासन ने 31 जुलाई तक सभी बच्चों को किताबें बांटने का निर्देश दिया था। सिर्फ किताबें ही नहीं, यूनिफॉर्म, जूते-मोजे व स्कूल बैग बांटने का काम भी लेटलतीफी का शिकार है।

चालू शैक्षिक सत्र में प्रदेश के सभी परिषदीय विद्यालयों, अनुदानित जूनियर हाईस्कूलों, राजकीय व अनुदानित माध्यमिक विद्यालयों और मदरसों में कक्षा एक से आठ तक के 1,78,11,109 विद्यार्थियों को पाठ्यपुस्तकें बांटी जानी है। इसके सापेक्ष 30 जुलाई तक सिर्फ 55 फीसद किताबों की ही जिलों में आपूर्ति की जा सकी है और 48 फीसद विद्यार्थियों को ही किताबें बांटी जा सकी थीं। यह स्थिति तब है जब अपर मुख्य सचिव बेसिक शिक्षा का कार्यभार ग्रहण करने के बाद डॉ.प्रभात कुमार ने छह जुलाई को बुलायी गई विभागीय अधिकारियों की बैठक में 31 जुलाई तक सभी बच्चों को किताबें बांटने का काम पूरा करने का निर्देश दिया था। अधिकारियों का कहना है कि ट्रक चालकों की हड़ताल के कारण जिलों में किताबों की आपूर्ति प्रभावित हुई है। परिषदीय विद्यालयों और बेसिक के अधीन अनुदानित जूनियर हाईस्कूलों के 1,69,48,066 बच्चों को चालू सत्र में यूनिफॉर्म दी जानी है। 30 जुलाई तक 1,33,56,970 यानि 79 फीसद बच्चों को ही यूनिफॉर्म का वितरण हो पाया है। परिषदीय विद्यालयों में कक्षा एक और छह के सभी विद्यार्थियों और अन्य कक्षाओं में नये दाखिले लेने वाले बच्चों के अलावा अनुदानित जूनियर हाईस्कूलों के सभी विद्यार्थियों को वर्तमान शैक्षिक सत्र में सरकार की ओर से निश्शुल्क स्कूल बैग दिये जाने हैं। इन बच्चों की कुल संख्या 54,89,725 है।

प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु महत्वपूर्ण नोट्स और वीडियो