Aug 31, 2018

ALLAHABAD: 21 में महज नौ शिक्षक अंग्रेजी माध्यम के: निर्धारित पांच विद्यालयों में 840 छात्र-छात्रएं पंजीकृत दरी पर हिंदी माध्यम की पुस्तकों से ही रही पढ़ाई


बेसिक शिक्षा विभाग के अंग्रेजी माध्यम विद्यालय अभी कान्वेंट स्कूलों से कदम ताल नहीं मिला पा रहे हैं। नगर के पांच ों में 21 शिक्षक-शिक्षिकाएं कार्यरत हैं। इनमें अंग्रेजी माध्यम के केवल नौ शिक्षक हैं। संसाधनों की कमी के कारण बच्चों को अंग्रेजी में शिक्षा नहीं मिल पा रही है।
नगर के पांच अंग्रेजी माध्यम के हैं। नियमानुसार यहां पर अंग्रेजी माध्यम के शिक्षकों की नियुक्ति होनी चाहिए, लेकिन हो नहीं रहा है। दारागंज बालक में तैनात दो शिक्षकों में कोई भी अंग्रेजी माध्यम का नहीं है। बेगमसराय में चार में एक शिक्षक अंग्रेजी माध्यम से है। एलनगंज के चार शिक्षकों में मात्र एक अंग्रेजी माध्यम है। 1सीपीआई में चार में दो शिक्षक एवं नैनी में सभी पांचों शिक्षक अंग्रेजी माध्यम के हैं। अंग्रेजी माध्यम विद्यालयों में बच्चे दरी पर ही पढ़ाई कर रहे हैं। अंग्रेजी माध्यम की पुस्तकें उपलब्ध न होने के कारण बच्चों को हंिदूी माध्यम की पुस्तकों से ही काम चलाना पड़ रहा है। 1खंड शिक्षा अधिकारी ज्योति शुक्ला का कहना है कि सभी विद्यालयों में संसाधनों एवं शिक्षकों की कमी को पूरा करने की कवायद चल रही है। जल्द ही स्थिति सुधरेगी।एलनगंज स्थित अंग्रेजी माध्यम में जमीन पर बिछी दरी पर बैठकर पढ़ाई करते छात्र-छात्रएं।अंग्रेजी माध्यम में छात्र संख्या 1 नैनी में 164, , बेगम बाजार में 285, दारागंज बालक में 157, एलनगंज में 146 और सीपीआई में 88 छात्र-छात्रएं पंजीकृत हैं।

प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु महत्वपूर्ण नोट्स और वीडियो