🔎Search Me

Aug 1, 2018

दाखिला लेने पहुंचे अनुसूचित जाति के दो बच्चों को भगाया, मेरठ जिले में एक प्राथमिक विद्यालय का मामला, वीडियो वायरल


मेरठ : प्राथमिक विद्यालय में दाखिले के लिए मां के साथ पहुंचे दो बच्चों को दुत्कार कर भगा दिया गया। सोशल मीडिया में इसका वीडियो वायरल होने के बाद अनुसूचित समाज के लोगों व बजरंग दल कार्यकर्ताओं ने जमकर हंगामा किया। इस पर आरोपित प्रधानाध्यापक मामले को निपटाने में जुट गए। विभाग के अधिकारी जांच की बात कह रहे हैं। 1मेरठ के मवाना कस्बे में पंछाली पट्टी स्थित प्राथमिक विद्यालय-2 में प्रधानाध्यापक रहीसुद्दीन समेत तीन अध्यापक हैं। विद्यालय में पढ़ने वाले ज्यादातर बच्चे भी संप्रदाय विशेष के हैं। मंगलवार सुबह मोहल्ला जगजीवनराम निवासी अनुसूचित जाति की पूनम पत्नी शीशपाल अपने पुत्र काíतक (6) और गौरव (7) का पहली कक्षा में दाखिला कराने उक्त विद्यालय में पहुंची थीं। आरोप है कि प्रधानाध्यापक रहीसुद्दीन ने दाखिला देने से इन्कार करते हुए महिला और बच्चों को दुत्कार कर भगा दिया। सोशल मीडिया पर प्रकरण का वीडियो वायरल होने पर अनुसूचित समाज के लोगों ने विद्यालय में पहुंचकर हंगामा कर दिया। बजरंग दल के महामंत्री जयसिंह सैनी, कंवल सिंह, विजयपाल व बृजपाल सिंह आदि भी पहुंच गए और दाखिला देने में भेदभाव का आरोप लगाते हुए हंगामा किया। उधर, विद्यालय के प्रधानाध्यापक रहीसुद्दीन ने कहा कि बच्चों की मां से जन्मतिथि पुष्ट करने के लिए आधार कार्ड मांगा था। दाखिला नहीं देने और दुत्कार कर भगाने का आरोप निराधार है। उधर, एबीएसए ध्यानचंद ने बताया कि मामला संज्ञान में नहीं है। जांच में दोषी पाए जाने पर आरोपित के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु महत्वपूर्ण नोट्स और वीडियो