🔎Search Me

03 August 2018

पीसीएस-आरएफओ प्री को रिकॉर्ड पंजीकरण: यूपी पीएससी की वेबसाइट पर छह लाख रजिस्ट्रेशन, कुल पद और एसडीएम के रिक्त पदों की संख्या भी सर्वाधिक


 इलाहाबाद : उप्र लोकसेवा आयोग यानि यूपी पीएससी फिर एक रिकॉर्ड बनाने जा रहा है। पीसीएस-आरएफओ संयुक्त प्रारंभिक परीक्षा 2018 के लिए गुरुवार को अंतिम तारीख तक सर्वाधिक पंजीकरण हुए हैं। खास बात यह है कि पदों की संख्या भी इस बार अधिक है। पिछली पीसीएस परीक्षाओं में अधिकतम साढ़े चार लाख अभ्यर्थियों के ही आवेदन हुए थे, जबकि 19 अगस्त को प्रस्तावित प्रारंभिक परीक्षा के लिए करीब छह लाख लोगों के ऑनलाइन परीक्षा शुल्क बैंक में जमा हो चुके हैं। 1यूपी पीएससी की परीक्षा इस बार यूपीएससी के पैटर्न पर करा रहा है। इसमें विषयों के चयन, साक्षात्कार 200 की बजाए 100 अंक का करने समेत अन्य कई बदलाव किए गए हैं। नई व्यवस्था के तहत पीसीएस के साथ वन विभाग में सहायक वन संरक्षक यानी एसीएफ और क्षेत्रीय वन अधिकारी यानी आरएफओ, भर्ती के लिए भी प्रारंभिक परीक्षा संयुक्त रूप से कराई जा रही है। इन दोनों ही परीक्षाओं में कुल 917 पद हैं। वहीं, दोनों की मुख्य परीक्षाएं अलग-अलग होंगी। पीसीएस की परीक्षा में एसडीएम के 119 पदों पर चयन होना है यह भी यूपी पीएससी से हो चुकी परीक्षाओं के लिहाज से अब तक की सर्वाधिक संख्या है। रिक्त पद व बदलावों के कारण परीक्षा में शामिल होने को अभ्यर्थियों का रेला उमड़ पड़ा है। परीक्षा विभाग की मानें तो आवेदन की संख्या करीब छह लाख होने के आसार हैं। दो अगस्त की रात 12 बजे तक बैंक में ऑनलाइन परीक्षा शुल्क जमा करना निश्चित किया गया था। जिनके शुल्क बैंक में जमा हो गए हैं उनके आवेदन छह अगस्त तक यूपी पीएससी में ऑनलाइन जमा होने हैं। ज्ञात हो कि 29 जुलाई को हुई एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती की लिखित परीक्षा में भी सात लाख 63 हजार 317 आवेदन हुए थे, यूपी पीएससी किसी परीक्षा में यह आवेदन करने का सर्वाधिक आंकड़ा रहा है

प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु महत्वपूर्ण नोट्स और वीडियो