🔎Search Me

12 August 2018

प्रधानाचार्यो के साक्षात्कार में चयन बोर्ड बाधा, हाईकोर्ट के आदेश से के बाद भी रुका परिणाम

इलाहाबाद : अशासकीय माध्यमिक कालेजों को नियमित प्रधानाचार्य के लिए अभी और इंतजार करना होगा। 2013 के पदों का साक्षात्कार जून माह में शुरू कराने की तैयारी थी लेकिन, अब तक सभी मंडलों के अभिलेख नहीं जांचे जा सके हैं। खास बात यह है कि हाईकोर्ट की तल्ख टिप्पणी के बाद भी इस दिशा में कार्य आगे नहीं बढ़ पा रहा है। प्रधानाचार्य पद के अभ्यर्थियों ने अध्यक्ष व सदस्यों का घेराव करने का अल्टीमेटम दिया है।

चयन बोर्ड में अशासकीय माध्यमिक कालेजों में प्रधानाचार्य की दो भर्तियां लंबित हैं। 2011 के प्रधानाचार्यो का परिणाम हाईकोर्ट के आदेश से ही रुका है, कानपुर मंडल का अब तक इंटरव्यू भी नहीं हो सका है। चयन बोर्ड ने इस मामले में कोर्ट में पैरवी तक ठीक से नहीं की है। वहीं, अप्रैल माह में हुई पहली बैठक में निर्णय हुआ कि 2013 के साक्षात्कार जून से शुरू कराए जाएंगे। इसके लिए कालेों के पूर्व प्रधानाचार्यो को बुलाया गया लेकिन, वह नहीं आए। ऐसे में चयन बोर्ड की बेहद धीमी गति से स्क्रीनिंग करा रहा है, इसीलिए अब तक कुछ मंडलों का कार्य पूरा हो सका है। अब प्रदेश भर के प्रधानाचार्य पद के अभ्यर्थी आंदोलन शुरू करने जा रहे हैं।

प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु महत्वपूर्ण नोट्स और वीडियो