🔎Search Me

09 August 2018

हाईस्कूल व इंटर की बोर्ड परीक्षाओं में पंजीकरण व परीक्षा फार्म भरने की गड़बड़ी रोकने को बड़ी पहल, कई राज्यों के परीक्षार्थियों का बनाया जाएगा डेटा पूल


यूपी बोर्ड हाईस्कूल व इंटरमीडिएट के परीक्षार्थियों का अभिलेख जांचने को बड़ी पहल करने की तैयारी में है। पड़ोसी राज्यों व अन्य बोर्डो के परीक्षार्थियों का एक डेटा पूल बनाने को प्रयास हो रहे हैं, ताकि वहां के छात्र-छात्रओं के रिकॉर्ड जांचकर उन्हें परीक्षा में शामिल होने की अनुमति दी जा सके। इस पर मंथन शुरू हो गया है। 1यूपी बोर्ड की परीक्षा के ठीक पहले हाईस्कूल के 49384 व इंटर के 34369 सहित कुल परीक्षार्थियों के अभिलेख दुरुस्त न होने पर उनका प्रवेशपत्र रोक दिया गया। इसके पहले की परीक्षाओं में अलीगढ़ व पश्चिम के कुछ जिलों में अधिकारियों पर ऐसे परीक्षार्थियों को अनुमति देने पर कार्रवाई हुई।
असल में यहां की परीक्षा में पड़ोसी राज्यों में उत्तराखंड, बिहार, पश्चिम बंगाल, मध्यप्रदेश, हरियाणा, दिल्ली सहित कुछ अन्य राज्यों के छात्र-छात्रएं इम्तिहान देने को आवेदन करते हैं लेकिन वह अपने अभिलेख सही से नहीं देते नहीं है। ऐसे ही प्रदेश में चल रहे अन्य बोर्ड सीबीएसई, आइसीएसई, संस्कृत शिक्षा परिषद आदि को भी पूल में शामिल करने की तैयारी है। जांच में गड़बड़ मिलने पर उन्हें बाहर कर दिया जाता है। अब बोर्ड प्रशासन की मंशा है कि इन राज्यों के बोर्ड की हाईस्कूल व इंटर में शामिल होने वाले छात्रों का डेटा का पूल बना लिया जाए तो उनके अभिलेख जांचने में सहूलियत रहेगी, वहीं ऐन समय पर परीक्षार्थी बाहर नहीं होंगे।

प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु महत्वपूर्ण नोट्स और वीडियो