Sep 22, 2018

टीईटी 2018: एक लाख 15 हजार ने कराया पंजीकरण, पहचानपत्र में सहूलियत मिलने के बाद और आएगी तेजी


इलाहाबाद : उप्र शिक्षक पात्रता परीक्षा यानि यूपी के लिए ऑनलाइन पंजीकरण और आवेदन की रफ्तार लगातार बढ़ती जा रही है। प्रक्रिया शुरू होने के चौथे दिन ही पंजीकरण कराने वालों का आंकड़ा बढ़कर एक लाख 15 हजार से अधिक हो गया है, वहीं करीब 44 हजार से अधिक ने आवेदन कर दिया है। शासन ने परीक्षा नियामक प्राधिकारी सचिव के प्रस्ताव पर पहचानपत्र में भी विकल्प बढ़ा दिए हैं, इससे जो अभ्यर्थी अब तक दावेदारी नहीं कर पा रहे थे, उनका भी रास्ता आसान हो गया है। 1ज्ञात हो कि बेसिक शिक्षा के अपर मुख्य सचिव डॉ. प्रभात कुमार ने टीईटी में मतदाता पहचानपत्र को भी शामिल करा दिया है। अभ्यर्थन के लिए पहचान पत्र की संख्या बढ़कर चार हो गई है। यह सुविधा होने से पहले ही पंजीकरण व आवेदन की प्रक्रिया काफी तेज रही है। हर दिन बड़ी संख्या में अभ्यर्थी दावेदारी कर रहे हैं। पंजीकरण व आवेदन की प्रक्रिया चार अक्टूबर तक चलेगी। इस बार टीईटी की प्राथमिक स्तर की परीक्षा में इस बार बीएड को शामिल किए जाने से दावेदारों की संख्या रिकॉर्ड स्तर तक पहुंचने की उम्मीद है। ज्ञात हो कि अगली शिक्षक भर्ती की करीब 97 हजार पदों की लिखित परीक्षा दिसंबर माह में प्रस्तावित है।

जिलों को भेजा स्क्रूटनी का आवेदनपत्र : बीटीसी 2014 प्रथम, द्वितीय व तृतीय सेमेस्टर के वे प्रशिक्षु जो कॉपियों की स्क्रूटनी कराना चाहते हैं के लिए सादे आवेदनपत्र डायट मुख्यालयों को परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय की ओर से भेजे गए हैं। निर्देश है कि परीक्षाफल घोषित होने के एक माह के अंदर इन्हें भरवाकर संस्थान में जमा करा दें।

प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु महत्वपूर्ण नोट्स और वीडियो