Sep 3, 2018

लिखित आश्वासन चाह रहे 41556 शिक्षक भर्ती अभ्यर्थियों पर पुलिस ने किया लाठीचार्ज, लिस्ट जारी कर तेजी दिखाकर सरकार ने विपक्षियों के मंसूबों पर फेरा पानी


लखनऊ : राजधानी में रविवार को बेसिक शिक्षा निदेशालय पर नियुक्ति पत्र के लिए लिखित आश्वासन की मांग करते हुए धरने पर बैठे शिक्षक भर्ती में चयन सूची से बाहर हुए अभ्यर्थियों को परिसर से बाहर निकालने में पुलिस को पसीना छूट गया। पुलिस ने जब अभ्यर्थियों को जबरन उठाने की कोशिश की तो उन्होंने सड़क जाम कर प्रदर्शन शुरू कर दिया। जाम खुलवाने के लिए पुलिस ने लाठियां भांजीं, जिसमें कई अभ्यर्थियों को चोटें भी आईं।
लिखित परीक्षा पास कर चुके अभ्यर्थी रविवार को भी धरने पर बैठे रहे। सुबह से ही वहां बड़ी संख्या में पुलिस बल मौजूद रहा। दोपहर बाद पुलिस ने अभ्यर्थियों को परिसर से बाहर निकालना शुरू कर दिया। जवाब में पुलिस को अभ्यर्थियों का प्रतिरोध भी ङोलना पड़ा। पुलिस कार्रवाई के दौरान रायबरेली निवासी आशीष गुप्ता हालत बिगड़ गई, जिसके बाद उसे एंबुलेंस से अस्पताल पहुंचाया गया। इसी दौरान रायबरेली निवासी अभ्यर्थी सौरभ शुक्ला ने आत्महत्या का प्रयास किया। वह टेलीफोन के तार से कार्यालय के सामने नीम के पेड़ पर फंदा बनाकर लटकने का प्रयास करने लगा। यह देखते ही पुलिस कर्मी दौड़ पड़े और उससे केबल छीन लिया। सौरभ के खुदकशी के प्रयास को देख अन्य अभ्यर्थियों को धैर्य टूट गया। सभी परिसर खाली कर निदेशालय के सामने मुख्य मार्ग पर पहुंच गए। अभ्यर्थियों ने सड़क जामकर प्रदर्शन शुरू कर दिया। अभ्यर्थियों को मार्ग से हटाने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया और उन्हें दौड़ा दौड़ाकर पीटा।
तेजी दिखाकर सरकार ने विपक्षियों के मंसूबों पर फेरा पानी : बेसिक शिक्षक भर्ती की चयन सूची से छूटे अभ्यर्थियों को तेजी से राहत देकर सरकार ने उनके आक्रोश को सियासी हवा देने में जुटे विपक्षी दलों के मंसूबे पर पानी फेर दिया।



प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु महत्वपूर्ण नोट्स और वीडियो