Search This Blog

Sep 8, 2018

68500 शिक्षक भर्ती परीक्षा में अभी और भी घोटाले के लिए कुछ बाकी है.....आइए प्रस्तुत करते है कुछ घोटाले के अंश

*और भी घोटाले के लिए कुछ बाकी है...*

पल पल की अपडेट हमारे अपर मुख्य सचिव श्री प्रभात कुमार जी द्वारा ट्विटर के द्वारा 68500 शिक्षक भर्ती की दी जाती रही।

*➡आइए प्रस्तुत करते है कुछ घोटाले के अंश-*

◆सबसे पहले सचिव साहब ने बताया कि 41556 भर्ती में कुल 40296 आवेदक आये। जिसमे 34600 को जिला आवंटित हुआ अवशेष 5696 अभ्यर्थी को सामान्य के पद न होने की वजह से जिला आवंटित न हो सका।ये समस्त अभ्यर्थी सामान्य कैटेगरी के थे।
(✔34600+5696=40296)

◆प्रथम सूचना में सचिव साहब ने 5696 अवशेष बताये,दूसरी सूचना में 6000 का जिक्र किया और तीसरी सूचना में 6127 अभ्यर्थियों की सूचना देकर अवशेष की काउंसिलिंग की लिस्ट जारी कर दी। मजे की बात पद कैसे बढ़ते चले गए?😄

◆सचिव साहब ने कुल आवेदक 40296 बताये। जबकि अगर दोनो काउंसिलिंग की लिस्ट में कुल अभ्यर्थियों की संख्या देखे तो-- (✔34660+6127= 40787)

तो 40787(कुल काउंसिलिंग)-40296(कुल आवेदक) =491

◆जब इन 491 अभ्यर्थियों के आवेदन ही नही थे तो काउंसिलिंग में कैसे आ गए(सिर्फ 1 अभ्यर्थी-सोनिका देवी को छोड़कर)।

◆जब 41556 पदों पर भर्ती हुई जिसकी शाषन की अधिसूचना/विज्ञप्ति जारी हुई तो जाहिर है आरक्षण नियम भी इन्ही पदों पर लागू हुआ। जिसमें लगभग 6000 सामान्य  अभ्यर्थी नियमानुसार रिसफलिंग प्रोसेस में बाहर गए। अब जो भी पद अवशेष बचे वो सिर्फ बैकलॉग श्रेणी(OBC+SC+ST+अन्य) के बचे। तो फिर कौन सा अन्तराष्ट्ररीय नियम लगाकर 6127 पदों पर जनरल अभ्यर्थियों को दे दिए गए😄। किसी भी दशा में 41556 भर्ती पद होने की दशा में ये सम्भव ही नहीं।

◆यदि अगर अब 30-33 वाले केस को जीतेंगे तो उनको पद कहाँ से दे दिए जाएंगे? सीधी सी बात सब मनमाने नियम लगा दिए गए, जिसका सीधा असर 30-33 वाले अभ्यर्थियों पर पड़ेगा।
ईमानदारी का दम्भ भरने वाली योगी सरकार पहली ही परीक्षा में बेमानी का चोला ओढ़ कर ढोल पीट दिए।😃

*अब देखना ये है कि ये धांधली कब तक चल पाएगी....!!!*

🚩 *Share To Care*

प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु महत्वपूर्ण नोट्स और वीडियो