Sep 8, 2018

अगली भर्ती की परीक्षा संस्था बदलने के आसार: 68500 भर्ती के परिणाम में व्यापक गड़बड़ियां सामने आने के बाद पहले अभ्यर्थी परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय पर खफा हुए, अब विभागीय अफसर भी नाराज


इलाहाबाद : परिषदीय स्कूलों की सहायक अध्यापक भर्ती की अगली लिखित परीक्षा का जिम्मा किसी अन्य संस्था को मिलने के आसार हैं। 68500 भर्ती के परिणाम में व्यापक गड़बड़ियां सामने आने के बाद पहले अभ्यर्थी परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय पर खफा हुए, अब विभागीय अफसर भी नाराज हो गए हैं। परीक्षा सिर पर है, यदि किसी वजह से संस्था में बदलाव नहीं हो पाता है तो परीक्षा नियामक प्राधिकारी सचिव व अन्य अफसरों के चेहरे जरूर बदल जाएंगे।

बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक स्कूलों में शीर्ष कोर्ट के निर्देश पर एक लाख 37 हजार समायोजित शिक्षामित्रों के पदों पर चयन होना है। 68500 पदों की पहली शिक्षक भर्ती में करीब 41 हजार पद ही भरे जा सके हैं, ऐसे में करीब 97 हजार की दूसरी शिक्षक भर्ती की लिखित परीक्षा दिसंबर माह में होनी है। इसके लिए परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय को ही अब तक दिशा निर्देश दिए जा रहे थे लेकिन, हाल में ही जिस तरह के मामले सामने आए हैं, उससे पूरी भर्ती संस्था सवालों के घेरे में है। परिषद को यह इम्तिहान कराने पर नए सिरे से चर्चा होगी। उप्र लोकसेवा आयोग ने जुलाई में राजकीय कॉलेज की एलटी ग्रेड की परीक्षा कराई है। संभव है कि बड़ी भर्ती का दायित्व दिया जाए।


प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु महत्वपूर्ण नोट्स और वीडियो