Sep 7, 2018

उच्च शिक्षा में असिस्टेंट प्रोफेसर भर्ती में देरी, प्रतियोगियों ने किया यूपीएचईएससी घेराव


इलाहाबाद : अशासकीय महाविद्यालयों में असिस्टेंट प्रोफेसर भर्ती के अभ्यर्थियों ने गुरुवार को उप्र उच्चतर शिक्षा सेवा चयन आयोग यानि यूपीएचईएससी पर आक्रोश जाहिर किया। विज्ञापन 47 के तहत लिखित परीक्षा की तारीख घोषित करने और विज्ञापन संख्या 44-45, के निरस्त होने से रिक्त करीब 11 सौ सीटों पर भी भर्ती किए जाने की जोरदारी से मांग की। चेयरमैन ने उन्हें नवंबर में ही परीक्षा हर हाल में कराने का आश्वासन दिया।

यूपीएचईएससी ने विज्ञापन 47 के तहत असिस्टेंट प्रोफेसर के 1150 पदों पर भर्ती के लिए आवेदन करीब डेढ़ साल पहले ही लिया है। परीक्षा अब तक नहीं हो सकी है। अध्यक्ष प्रो. ईश्वर शरण विश्वकर्मा की अध्यक्षता में हुई बैठक में यह निर्णय हो चुका है कि लिखित परीक्षा नवंबर में कराई जाएगी लेकिन, इसकी तारीखें अब तक तय नहीं की जा सकी हैं। सुबह करीब 11 बजे पहुंचे अभ्यर्थियों का आक्रोश इसी बात को लेकर था कि परीक्षा की तारीख तय करने में लेटलतीफी क्यों हो रही है। अभ्यर्थियों का यह भी कहना था कि विज्ञापन संख्या 44 और 45 के तहत करीब 11 सौ पदों पर भर्ती होनी थी लेकिन, इन दोनों विज्ञापनों को 2015 में निरस्त कर दिया गया। इन रिक्त पदों पर अब तक कोई विचार नहीं हो सका है। अभ्यर्थियों ने इन दोनों ही भर्तियों पर यूपीएचईएससी से जवाब मांगा।1दोपहर बाद अध्यक्ष से प्रतिनिधि मंडल की बात हुई। जिसमें परीक्षा की तारीख को लेकर बात कभी बनी कभी बिगड़ने लगी। अध्यक्ष ने आश्वस्त किया कि तैयारी तेजी से चल रही है। तारीखें अभी नहीं बता सकते लेकिन, परीक्षा नवंबर में होगी यह निश्चित है। इस अवसर पर उच्च शिक्षा प्रतियोगी मंच के अध्यक्ष चंद्रेश पांडेय, संयोजक पवन सिंह, आदर्श, संगीता, सत्यम पांडेय आदि शामिल रहे।

प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु महत्वपूर्ण नोट्स और वीडियो