Sep 5, 2018

यूपीपीएससी को नहीं मिल रहे सीसीटीवी वाले परीक्षा केंद्र, कई केंद्रों में निगरानी वीडियो फोटोग्राफी पर ही होगी आधारित


इलाहाबाद : परीक्षाओं के लिए भी उप्र लोकसेवा आयोग, यूपीपीएससी को सीसीटीवी से लैस पर्याप्त केंद्र नहीं मिल रहे हैं। जो हाल 29 जुलाई को एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती की लिखित परीक्षा में हो रहा है वैसा ही पीसीएस और वन विभाग की संयुक्त (प्रारंभिक) परीक्षा 2018 में रहने की आशंका गहरा गई है। यूपीपीएससी ने परंपरागत 21 जिलों की जगह 31 जिलों में परीक्षा केंद्र की तैयारी कर ली है। जिलाधिकारी से केंद्रों के संबंध में व्यवस्थाओं की रिपोर्ट मांगी है। 1यूपीपीएससी की ओर से 28 अक्टूबर को प्रस्तावित पीसीएस 2018 के अलावा एसीएफ/आरएफओ 2018 की संयुक्त (प्रारंभिक) परीक्षा में छह लाख 37 हजार अभ्यर्थियों ने आवेदन किए हैं। पीसीएस की प्रारंभिक परीक्षा यूपीपीएससी प्रदेश के 21 जिलों में कराता रहा है। लेकिन, आगामी परीक्षा के लिए अभी तक 10 जिले बढ़ाए जा चुके हैं, यानी और जिले न बढ़े तो संयुक्त प्रारंभिक परीक्षा 31 जिलों में हो सकती है। 1सूत्र बताते हैं कि कई जिलों में ऐसे स्कूल चयनित किए गए हैं जहां सीसीटीवी लगे ही नहीं हैं। हालांकि स्कूलों के रिकॉर्ड अच्छे हैं। इसे देखते हुए वहां अभ्यर्थियों पर निगरानी रखने के लिए वीडियोग्राफी कराई जाएगी। 1कुछ ऐसी ही व्यवस्था एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती की लिखित परीक्षा में भी थी। यह भी जानकारी है कि जिन जिलों में एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती की लिखित परीक्षा कराई गई थी उन्हें इस बार भी चुना गया है। हालांकि यूपीपीएससी का यह रवैया उन अभ्यर्थियों के गले नहीं उतर रहा है जो पहले भी पीसीएस की परीक्षा दे चुके हैं।

प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु महत्वपूर्ण नोट्स और वीडियो