Sep 17, 2018

अध्यापक न पुस्तकें ‘कॉन्वेंट’ से मुकाबला: बिना तैयारी के कॉन्वेंट स्कूलों से टक्कर लेने चला बेसिक शिक्षा विभाग


लखनऊ यूपी बोर्ड में परीक्षा की तैयारी शुरू हो गई है, जबकि बेसिक शिक्षा परिषद के स्कूलों में अभी तक संसाधन ही मुहैया नहीं कराए गए। अंग्रेजी माध्यम में चयनित 45 प्राथमिक विद्यालयों में सभी विषयों की किताबें नहीं बंटी। खास बात यह है कि इनमें से अधिसंख्य स्कूलों में अंग्रेजी माध्यम के शिक्षक ही नहीं तैनात किए गए। ऐसे में कॉन्वेंट स्कूलों से मुकाबला कराने की होड़ में बच्चों के भविष्य से खिलवाड़ किया जा रहा है। बेसिक शिक्षा विभाग ने नगर में एक और ग्रामीण इलाकों में 44 प्राथमिक स्कूलों को अंग्रेजी माध्यम में चुना था। कक्षा-पांच तक के इन स्कूलों में अगस्त में ही सभी विषयों की किताबें बांटने का निर्देश था, लेकिन छात्रों को अभी तक पूरी किताबें नहीं मिलीं। बेसिक शिक्षक नेता वीरेंद्र सिंह ने कहा कि इंग्लिश मीडियम के शिक्षकों की तैनाती न होने से पढ़ाई भी नहीं हो पा रही है। इन विद्यालयों में बच्चे अभी तक अंग्रेजी में प्रार्थना भी नहीं सीख पाए हैं, ऐसे में जब अंग्रेजी का पेपर इनके सामने होगा तो ये उसमें क्या लिखेंगे?।

बेसिक शिक्षा परिषद के अंग्रेजी माध्यम में चयनित हुए थे 45 विद्यालय
सभी छात्रों को न किताबें मिलीं न ही हर विषय के शिक्षकों की तैनाती हुई कक्षा एक, दो व तीन की किताबें स्कूलों में बंटवा दी गई हैं। चार व पांच की पूरी किताबें अभी नहीं आई हैं। जहां शिक्षकों की कमी है, वहां इसी महीने तैनाती कर दी जाएगी। -अमरकांत सिंह, बेसिक शिक्षा अधिकारी।काकोरी में सेगरामऊ प्राथमिक विद्यालय इंग्लिश मीडियम में चयनित है। इस विद्यालय में सिर्फ दो शिक्षकों की तैनाती है। यहां अभी हर विषय की किताबें नहीं बांटी गई हैं। थावर प्राथमिक विद्यालय भी अंग्रेजी माध्यम में चयनित किया गया है। यहां सिर्फ एक शिक्षक के भरोसे पढ़ाई हो रही है। अभी तक सभी विषय की किताबें नहीं बंटी हैं।


प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु महत्वपूर्ण नोट्स और वीडियो