Sep 25, 2018

BTC-2015 के रिजल्ट में गड़बड़ी पर कोर्ट ने परीक्षा नियामक प्राधिकारी सचिव को किया तलब

इलाहाबाद। बीटीसी 2015 के तृतीय सेमेस्टर के घोषित परिणाम में व्यापक धांधली की जांच की मांग में अभ्यर्थियों ने याचिका दाखिल की है। जस्टिस संगीता चन्द्रा की एकलपीठ ने मामले की सुनवाई करते हुए सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी से पूछा है कि कैसे हुई गड़बड़ी। कोर्ट ने रिकर्ड के साथ 5 अक्टूबर को तलब किया है।
तीसरे सेमेस्टर में बड़ी संख्या में छात्र फेल हुए है, जबकि कई छात्र निर्धारित अंक से अधिक अंक से पास हुए है। 25 अंक की बजाय 29 अंक देने पर सवाल उठ रहे हैं। याची विकास व 32 अन्य की ओर से याचिका दाखिल की गयी है। याचियों ने कापियों का पुनर्मूल्यांकन करने व उन्हें चौथे सेमेस्टर में बैठने की अनुमति मांगी है।

प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु महत्वपूर्ण नोट्स और वीडियो