Sep 20, 2018

PCS-J: सर्वर धीमा, नहीं कर पा रहे पीसीएस जे में आवेदन: वेबसाइट ओवरलोड, अभ्यर्थियों की संख्या हो सकती है कम


उप्र न्यायिक सेवा सिविल जज (जूनियर डिवीजन) यानि पीसीएस जे परीक्षा 2018 में ऑनलाइन आवेदन करने वालों के सामने की ओवरलोड वेबसाइट रोड़ा बन रही है। सर्वर धीमा चलने की शिकायतें कई जिलों से हैं। आवेदन 11 सितंबर से शुरू हुए हैं और अब तक बमुश्किल डेढ़ लाख आवेदन ही हो सके हैं। यह स्थिति तब है जब पदों की संख्या अधिक होने के चलते आवेदन यूपी के अलावा कई अन्य जिलों से भी हो रहे हैं।

उप्र लोकसेवा आयोग () की ओर से बीते दो महीने में कई बड़ी परीक्षाओं के लिए ऑनलाइन आवेदन लिए गए। इसमें पीसीएस 2018, एसीएफ/आरएफओ 2017 की मुख्य परीक्षा, इससे पहले होम्योपैथिक /आयुर्वेदिक चिकित्साधिकारी परीक्षा के लिए भी आवेदन लिए जा चुके हैं। 11 सितंबर से पीसीएस जे परीक्षा 2018 के भी आवेदन शुरू हो गए। पिछले दिनों प्रवक्ता राजकीय इंटर कालेज की 23 सितंबर को होने वाली स्क्रीनिंग परीक्षा के लिए प्रवेश पत्र अपलोड किए गए जिसे डाउनलोड करने में अभ्यर्थियों को दिक्कत हो रही है। अब पीसीएस जे परीक्षा के आवेदन में भी सर्वर की धीमी चाल अभ्यर्थियों को साइबर कैफों से उल्टे पांव वापस कर रही है। के सूत्रों के अनुसार अब तक करीब डेढ़ लाख आवेदन ही हो सके हैं, जबकि रिक्तियों की संख्या 610 है। कई राज्यों के अभ्यर्थियों अपने सपनों को पूरा करने के लिए आवेदन कर रहे हैं। पीसीएस 2018 की तरह पीसीएस जे परीक्षा 2018 में भी आवेदन रिकॉर्ड तोड़ होने का अनुमान है लेकिन, अभ्यर्थियों को अंतिम दिनों में और भी अधिक ओवरलोडिंग का सामना करना पड़ सकता है। सचिव जगदीश ने कहा कि वेबसाइट पर आवेदन लेने की प्रक्रिया का संचालन एनआइसी के माध्यम से होता है। कभी-कभी ओवरलोडिंग के चलते सर्वर धीमा भी चलता है। लेकिन, हमेशा यह दिक्कत नहीं रहती। कहा कि अभी काफी समय है, आवेदन अधिक होने की उम्मीद है।

प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु महत्वपूर्ण नोट्स और वीडियो