Oct 30, 2018

स्वागत को तैयार हो रहे बेसिक विद्यालय, प्रत्येक विद्यालय में अधिकतम 300 श्रद्धालुओं को ठहराया जाएगा:यह होगी व्यवस्था


प्रयागराज : कुंभ में नगर के प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालयों में भी स्नानार्थियों को ठहराया जाएगा। उनके स्वागत के लिए विद्यालय तैयार किए जा रहे हैं। संगम के आसपास और जनपद की सीमा से लगे सड़कों से सटे 400 विद्यालयों को चिह्न्ति भी कर लिया गया है जहां पर श्रद्धालुओं के ठहरने की व्यवस्था की जाएगी। एडी बेसिक ने चिह्न्ति किए गए सभी विद्यालयों में कार्य की समीक्षा रिपोर्ट 15 नवंबर तक मांगी है। 1नगर को जोड़ने वाले ऐसे विद्यालय जो सड़क के किनारे एवं घनी आबादी में हैं, उसमें कुंभ मेले में आने वाले श्रद्धालुओं को ठहराने की व्यवस्था होगी। वे विद्यालयों में क्लास, रसोई, हैंडपंप एवं शौचालय का भी प्रयोग कर सकेंगे। प्रथम स्नान पर्व से ही विद्यालयों को रंग-रोगन, संसाधनों से युक्त कर दिया जाएगा। प्रशासन की मंशा के अनुसार कुछ विद्यालयों में कार्य भी शुरू कर दिया गया है। इन सभी विद्यालयों की पहचान कुंभ के लोगो से होगी। दरअसल कुंभ के पांच प्रमुख स्नान पर्वो पर करोड़ों श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ेगी। ऐसे में जिला प्रशासन के पास भीड़ को ठौर मुहैया कराना भी चुनौती होगी। इसके लिए जिला प्रशासन बेसिक एवं उच्च बेसिक विद्यालयों की भी सहायता लेगा। स्नानार्थियों की सुविधा के लिए मकर संक्राति, मौनी अमावस्या, बसंत पंचमी, माघी पूर्णिमा और महाशिवरात्रि पर एक दिन पूर्व और एक दिन बाद तक विद्यालय बंद रहेंगे। सहायक शिक्षा निदेशक बेसिक रमेश कुमार तिवारी ने बताया दो माह पूर्व इस संबंध में विद्यालयों को आदेश भेज दिया गया था।

प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु महत्वपूर्ण नोट्स और वीडियो