Oct 27, 2018

डीपीएड-बीपीएड डिग्रीधारी पिछले सात साल से खा रहे लाठी, फिर भी 32 हजार भर्तियाँ शासन ने की रद्द

बेसिक शिक्षा परिषद के उच्च प्राथमिक स्कूलों में 32022 अंशकालिक अनुदेशकों की भर्ती 23 अक्तूबर को निरस्त होने के साथ ही डेढ़ लाख से अधिक बीपीएड, डीपीएड और सीपीएड डिग्रीधारी बेरोजगारों के सपने पर
पानी फिर गया है। भर्ती के लिए 2009 से संघर्ष कर रहे इन अभ्यर्थियों को सिवाय लाठी के और कुछ नहीं मिला। लंबे संघर्ष के बाद सपा सरकार ने 19 सितंबर 2016 को शारीरिक शिक्षा व खेलकूद के 32022 अंशकालिक अनुदेशकों की भर्ती शुरू की थी। भर्ती के लिए 153739 बीपीएड, डीपीएड, सीपीएड डिग्रीधारियों ने ऑनलाइन आवेदन भी किया। लेकिन 23 मार्च 2017 को भाजपा सरकार ने भर्ती पर रोक लगा दी। रोक के खिलाफ अभ्यर्थियों ने याचिका की जिस पर हाईकोर्ट ने तीन नवंबर 2017 को दो महीने में भर्ती पूरी करने का आदेश दिया। हालांकि सरकार ने भर्ती शुरू करने की बजाय हाईकोर्ट में स्पेशल याचिका दायर कर दी। इस मामले में हाईकोर्ट ने 12 अप्रैल 2018 को सरकार की विशेष याचिकाएं खारिज कर दो महीने में नियुक्ति का फिर से आदेश दिया। मांग को लेकर अनुदेशक मुख्यमंत्री से 20 अक्तूबर को गोरखपुर में मिलना चाह रहे थे कि पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया। इसके बाद 23 अक्तूबर को भर्ती प्रक्रिया निरस्त करने का आदेश जारी हो गया।


प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु महत्वपूर्ण नोट्स और वीडियो