Oct 17, 2018

योगी सरकार के रडार पर आए खंड शिक्षा अधिकारी, विशेष सचिव ने लिखा सभी बीएसए को चेतावनी पत्र

जागरण संवाददाता, फतेहपुर : बेसिक शिक्षा विभाग के ब्लाक के मुखिया अफसर खंड शिक्षाधिकारी को शासन ने रडार में ले लिया है। खंड शिक्षाधिकारियों के द्वारा किए जा रहे गलत कामों का उल्लेख करते हुए बीएसए को इसमें रोक लगाने के आदेश दिए हैं। अनियमितता पर रोकथाम न लगने की स्थिति में कठोर कार्यवाई की जाएगी। जिले में 13 ब्लाकों एवं मुख्यालय तथा ¨बदकी में खंड शिक्षाधिकारी तैनात हैं।
शासन ने खंड शिक्षाधिकारियों के दायित्व निर्वहन की गोपनीय जांच करवाई है। जिसमें पता चला है कि खंड शिक्षाधिकारियों द्वारा व्यापक पैमाने पर अनियमितता की जा रही है। जिससे नियम विपरीत शिक्षक-शिक्षिकाओं का लाभ दिया जा रहा है। शासन के विशेष सचिव अनूप सिंह ने मामले को संज्ञान में लिया है। बीएसए को पत्र लिखा है कि खंड शिक्षाधिकारियों द्वारा किए जा रहे गलत काम में तत्काल रोक लगवाई जाए। अन्यथा की स्थिति में कार्यवाही की जाएगी। बीएसए शिवेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि शासन के सचिव का पत्र मिला है। जिसके आधार पर पड़ताल की जा रही है।
इन ¨बदुओं पर बरती जाती अनियमितता 
शिक्षकों के सेवा अभिलेखों में प्रत्येक माह की भौतिक उपस्थिति का मिलान करने पर वेतन भुगतान की कार्यवाही नियमानुसार न किया जाना।
कार्यक्षेत्र में अमान्य विद्यालयों का संचालन हो रहा है, कतिपय विद्यालय जिनकी मान्यता हेतु आंख मूंदकर आख्या लगाई गई है।
कार्यरत शिक्षक-शिक्षिकाओं की सेवा पंजिका, उपस्थिति पंजिका, लॉक बुक एवं वेतन बिल पंजिका का मिलान पर पाया जा रहा है कि कतिपय शिक्षकों का चिकित्सकीय अवकाश पर होने के पश्चात भी उनका बगैर चिकित्सकीय अवकाश स्वीकृत करते हुए पूरे माह का वेतन निर्गत किया गया है और उनका अंकन नहीं किया जाता है।
शिक्षक शिक्षिकाओं के अवैतनिक अवकाश पर होने के पश्चात भी संबंधित को पूरा वेतन आहरित कराया जा रहा है।
शिक्षक-शिक्षिकाओं का अनियमित रूप से विद्यालय में उपस्थित होना तथा अनुपस्थिति अवधि में हस्ताक्षर कर देना।
बीएसए कार्यालय
विशेष सचिव शासन ने बीएसए को लिखा चेतावनी पत्र
अनियमितता पर रोकथाम न लगने की स्थिति में होगी कठोर कार्रवाई

प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु महत्वपूर्ण नोट्स और वीडियो