Oct 26, 2018

पीसीएस की सबसे बड़ी परीक्षा कराने के लिए टीमें रवाना, बाहरी व्यवस्था के लिए शासन को पहले ही भेजा जा चुका है पत्र


 पीसीएस और एसीएफ/आरएफओ (संयुक्त प्रारंभिक) 2018 की अब तक की सबसे बड़ी परीक्षा कराने के लिए यूपीपीएससी यानि उप्र लोकसेवा आयोग ने इसमें लगाई गई टीमों को आवंटित जिलों के लिए रवाना कर दिया है। परीक्षा केंद्रों के बाहरी इंतजाम के लिए प्रमुख सचिव कार्मिक और गृह सचिव को पत्र भी भेजे जा चुके हैं। 1 29 जिलों में परीक्षा होने के चलते इस बार यूपीपीएससी से पर्यवेक्षकों की भी अतिरिक्त व्यवस्था की गई है, जबकि परीक्षा में शामिल होने वाले यूपीपीएससी कर्मियों को उनके गृह जिले भेज दिया गया है। पीसीएस और एसीएफ/आरएफओ की संयुक्त प्रारंभिक 28 अक्टूबर को दो पालियों में होनी है। इस बार लाखों अभ्यर्थियों के जाने आने के लिए परिवहन की समस्या कम रहेगी क्योंकि अधिकांश को गृह जिले आवंटित हुए हैं। जिन अभ्यर्थियों ने अपने गृह जिले की बजाय उन जिलों का पता आवेदन में दिया है जहां वे रहकर प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं तो उन्हें वहीं जिला आवंटित किया गया। इससे रोडवेज बसों या ट्रेनों में भीड़ बढ़ने की समस्या इस बार नहीं रहेगी। इसके बावजूद जिन्हें आसपास के जिले आवंटित हुए हैं उन्हें आसानी से यात्र करने की सुविधा के लिए इंतजाम शासन के निर्देश पर जिला प्रशासन को करना है। 1 लखनऊ में इसी महीने विभिन्न भर्ती आयोगों की हुई बैठक में यह निर्देश दिए गए थे कि परीक्षा की आंतरिक तैयारियों को नियमानुसार चाहे तो गोपनीय रखा जाए लेकिन, बाहरी तैयारी तैयारी के लिए शासन और जिलों के प्रशासन से सामंजस्य बनाना जरूरी है। 1 इसी के अनुपालन में यूपीपीएससी की ओर से शासन को चिट्ठी भेजी जा चुकी है। सचिव जगदीश ने बताया कि पूरी तैयारी के लिए साथ टीमों को रवाना कर दिया गया है। केवल बाराबंकी के एक परीक्षा केंद्र के बदलाव के अलावा अन्य व्यवस्थाएं पूर्व की तैयारी के अनुसार हैं।

प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु महत्वपूर्ण नोट्स और वीडियो